खोज

Vatican News
वाशिंगटन की गली में पड़ा समाचार पत्र वाशिंगटन की गली में पड़ा समाचार पत्र  (AFP or licensors)

आशा भरी कहानियों को साझा करने के लिए धन्यवाद, संत पापा

सोमवार को दुनिया भर के 100 से अधिक स्ट्रीट अखबारों को भेजे एक पत्र में, संत पापा फ्रांसिस ने स्वीकार किया कि कोरोना वायरस के प्रकोप ने उन लोगों को गंभीर परीक्षा में डाल दिया है जो आय के लिए अखबारों पर भरोसा करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 27 अप्रैल 2020 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार को विश्व के करीब 100 से अधिक, स्ट्रीट अखबारों को पत्र लिखकर, इस महामारी के कठिन समय की चुनौतियों का सामना करने हेतु पत्रकारों और विक्रेताओं को प्रोत्साहित किया।

संत पापा ने अपने पत्र में लिखा, इस चुनौती भरी दुनिया में लाखों लोग पहले से ज्यादा कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं। कई महामारी से पीड़ित हैं। सबसे कमजोर, बेसहारा, बेघर लोगों को सबसे अधिक कीमत चुकाने का जोखिम है।

हाशिए पर जाने वालों की आवाज

संत पापा ने लिखा, ʺमैं आज स्ट्रीट अखबारों की दुनिया को विशेष याद कर धन्यवाद देता हूँ, जिसने विशेष रूप से दुनिया भर में हजारों बेघर, हाशिए पर जीने वालों और बेरोजगार लोगों को इन असाधारण समाचार पत्रों को बेचने का काम दिया है।ʺ

संत पापा ने इटली के कारितास परियोजना ‘स्कार्प डे 'टेनिस’ के बारे में लिखा कि यह आर्थिक कठिनाई में पड़े 130 से अधिक लोगों की आमदनी का जरिया है। संत पापा ने दुनिया भर में 100 से अधिक स्ट्रीट अखबारों को याद किया जो 35 देशों में और 25 विभिन्न भाषाओं में प्रकाशित होते हैं और 20,500 बेघर लोगों को रोजगार प्रदान करते हैं। विश्व महामारी के कारण अब कई हफ्तों से, अखबार नहीं बेचे गए हैं और विक्रेताओं की काम बंद हैं।

आशा भरी कहानियाँ

संत पापा ने पत्रकारों, स्वयंसेवकों और इन परियोजनाओं को चलाने वालों को धन्यवाद देते हुए अपनी एकजुटता व्यक्त की जो इन दिनों अपने नये रचनात्मक विचारों और कलाओं का प्रयोग कर रहे हैं। संत पापा ने लिखा,ʺ महामारी ने आपके काम को मुश्किल बना दिया है लेकिन मुझे यकीन है कि स्ट्रीट अखबारों का शानदार नेटवर्क पहले से कहीं ज्यादा मजबूत होगा। इन दिनों गरीबों को मदद करने की आवश्यकता है। प्रोत्साहन और भाईचारे की दोस्ती का मेरा संदेश आप सभी के लिए है। आपके द्वारा किए गए कार्यों के लिए धन्यवाद। आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी के लिए और आशा भरी कहानियाँ जो आप बताते हैं, सबकुछ के लिए धन्यवाद।ʺ

27 April 2020, 16:18