खोज

Vatican News
बुधवारीय आमदर्शन समारोह में संत पापा फ्राँसिस बुधवारीय आमदर्शन समारोह में संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

सिएना की संत काथरीना इटली और यूरोप की रक्षा करें, संत पापा

बुधवारीय आमदर्शन समारोह के बाद, संत पापा फ्रांसिस ने कहा कि आज काथलिक कलीसिया इटली एवं यूरोप की संरक्षिका और कलीसिया की धर्माचर्या, सिएना की संत काथरीना का त्योहार मनाती है। संत पापा ने महामारी के दौरान सुरक्षा के लिए और यूरोप की एकता के लिए संत काथरीना से प्रार्थना की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 29 अप्रैल 2020 (वाटिकन न्यूज) : वाटिकन प्रेरितिक निवास के पुस्तकालय में संत पापा फ्रांसिस ने अपने बुधवारीय आमदर्शन समारोह के अवसर पर से धर्मशिक्षा देने के बाद सभों का अभिवादन किया।

इटली और यूरोप का संरक्षिका संत काथरीना

संत पापा ने कहा, हालांकि काथरीना पढ़ने या लिखने में असमर्थ थी, इस "साहसी युवा महिला" ने नागरिक और धार्मिक नेताओं से अपील करने में संकोच नहीं किया। उसने उन्हें कार्रवाई के लिए बुलाया और कई बार उन्हें फटकार भी लगाई। संत पापा फ्रांसिस ने विशेष रूप से इटली में शांति लाने और संत पापा को एविनोन से रोम वापस लाने जैसे बड़े कामों का उल्लेख किया।

संत पापा ने कहा, "उनका उदाहरण सभी को समझने में मदद करता है कि इस कटिन समय में कलीसिया के लिए गहन प्रेम के साथ नागर समुदाय को एकजुट बनाने में हम सहयोग दे सकते हैं। "मैं संत काथरीना से इस महामारी के दौरान इटली और यूरोप की रक्षा करने के लिए प्रार्थना कहता हूँ, क्योंकि वे यूरोप की संरक्षिका है, ताकि पूरा यूरोप एकजुट रह सके।”

कार्यकर्ताओं के संरक्षक संत जोसेफ

संत पापा फ्राँसिस ने संत जोसेफ के त्योहार का भी उल्लेख किया, जो शुक्रवार 1 मई को है।

संत पापा ने कहा, "संत जोसेफ के माध्यम से, मैं उन सभी को ईश्वर की दया तले सौंपता हूं जो वर्तमान महामारी के कारण बेरोजगार हो गये हैं। ईश्वर उन सभी को सुरक्षा प्रदान करें और हमें उनकी मदद करने के लिए प्रोत्साहित करें।"

माता मरिया और रोजरी की प्रार्थना

महामारी के कारण होने वाले संकट और पीड़ा पर विचार करने के बाद संत पापा ने लोगों का ध्यान कुवांरी माँ मरियम की ओर आकर्षित कराया।

संत पापा ने सभी को रोज़री की प्रार्थना करने के लिए फिर से एकबार प्रोत्साहित किया। संत पापा ने कुछ दिन पहले मई के महीने के दौरान लिखे पत्र में सभी विश्वासियों को संबोधित कर रोजरी प्रार्थना करने के लिए प्रोत्साहित किया था।

पोलिश भाषा बोलने वाले विश्वासियों का अभिवादन कर संत पापा ने कहा कि अब, जब बहुत से लोगों को अपने घरों में रहना पड़ रहा है, रोज़री की प्रार्थना की सुंदरता को फिर से परिभाषित करने के लिए और मारिया के भक्ति की परंपरा" को बनाये रखने का यह एक अच्छा अवसर है ।

उन्होंने विश्वासियों से, चाहे एक परिवार में या व्यक्तिगत रूप से, "मसीह के चेहरे और माता मरिया के हृदय पर" अपनी निगाहें टिकाये रखने हेतु आह्वान किया। माता मरिया इस कठिन समय का सामना करने में सबकी मदद करें।

29 April 2020, 16:53