खोज

Vatican News
कोरोना वायरस महामारी के समय सामूहिक दफन करता ब्राजील का मनाऊस शहर कोरोना वायरस महामारी के समय सामूहिक दफन करता ब्राजील का मनाऊस शहर  (ANSA)

कोविड-19 : मनाऊस के महाधर्माध्यक्ष को संत पापा का फोन

संत पापा फ्राँसिस ने ब्राजील के अमाजोन प्रांत मनाऊस के महाधर्माध्यक्ष लेओनार्दो स्तेईनेर से फोन द्वारा सम्पर्क कर वहाँ के कोरोना वायरस महामारी से पीड़ित लोगों के प्रति सहानुभूति प्रकट की तथा उनके प्रति अपना आध्यात्मिक सामीप्य व्यक्त किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 28 अप्रैल 2020 (रेई)- संत पापा ने अमाजोन के मनाऊस शहर और वहाँ के आदिवासी एवं गरीब लोगों के प्रति अपनी सहानुभूति, सामीप्य और चिंता व्यक्त की।

अमाजोन प्रांत में ब्राजील के सबसे बड़े शहर और जंगल के प्रवेश द्वार पर स्थित मनाऊस के महाधर्माध्यक्ष द्वारा जारी एक वक्तव्य में कहा गया है कि संत पापा ने शनिवार को फोन द्वारा उनसे सम्पर्क किया था और उनसे बातें कीं।

रेपाम द्वारा दैनिक कोविद -19 निगरानी (कलीसियाई पान अमाजोन नेटवर्क) के अनुसार मनाऊस शहर कोविड -19 से अमाजोन प्रांत का सबसे प्रभावित क्षेत्र है।

सहानुभूति एवं सांत्वना के शब्द

वक्तव्य में कहा गया है कि महाधर्माध्यक्ष ने संत पापा के सहानुभूति एवं सांत्वना के शब्दों के लिए धन्यवाद दिया और उन्होंने संत पापा को बतलाया है कि महाधर्मप्रांत सड़कों पर रहने वालों की देखभाल कर रही है, भूखे लोगों को भोजन दे रही है और पीड़ित लोगों तक पहुँचने एवं आप्रवासियों की मदद करने का प्रयास कर रही है।

बतलाया गया है कि वार्तालाप के अंत में, संत पापा ने महाधर्माध्यक्ष, विश्वासियों, धर्मसमाजियों एवं पुरोहितों को लोगों की पीड़ा कम करने हेतु उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया है। उन्होंने मौत के शिकार लोगों एवं उनके परिवारों को अपनी प्रार्थनाओं का आश्वासन दिया है तथा अमाजोन के लिए अपनी विशेष आशीष प्रदान की है।

मनाऊस के महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "हम संत पापा के प्रति उनके पितृ तुल्य कलीसियाई स्नेह के लिए गहराई से आभार प्रकट करते हैं।"

सामूहिक कब्र

कोरोना वायरस के कारण मनाऊस में स्वास्थ्य सुविधा पूरी तरह दबाव में है। शहर के सार्वजनिक अस्पताल के सभी आईसीयू बेड कथित तौर पर ले लिए गए हैं और शहर के कोरोनोवायरस पीड़ितों को सामूहिक कब्रों में दफनाना शुरू कर दिया है।

अमाजोन में अब तक 3,600 लोग संक्रमित हैं जबकि 300 के करीब लोगों की मौत भी हो चुकी है।

28 April 2020, 16:49