खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

कोविड -19 से सुरक्षा हेतु माता मरियम से प्रार्थना

संत पापा फ्राँसिस ने एक प्रार्थना तैयार की है जिसमें रोगियों का स्वास्थ्य माता मरियम से कोविड -19 महामारी से सुरक्षा हेतु याचना की गई है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 12 मार्च 20 (रेई)˸ संत पापा ने एक वीडियो प्रकाशित कर रोम धर्मप्रांत में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बुधवार को एक दिवसीय प्रार्थना एवं उपवास तथा धन्य कुँवारी मरियम से प्रार्थना करने की घोषणा की थी।

वीडियो को रोम धर्मप्रांत के विकर कार्डिनल अंजेलो दी दोनातिस द्वारा रोम के निकट दिव्य प्रेम मरियम तीर्थ में ख्रीस्तयाग अर्पित करने के पूर्व प्रस्तुत किया गया।

वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मत्तेओ ब्रूनी ने मंगलवार को कहा था कि संत पापा फ्राँसिस रोम शहर, पूरी इटली एवं समस्त विश्व को ईश्वर की माता मरियम के संरक्षण में सौंपना चाहते हैं जो कोरोना वायरस संकट के दौरान मुक्ति एवं आशा के प्रतीक हैं।  

विश्वास में सुदृढ़

अपनी प्रार्थना में संत पापा फ्राँसिस ने माता मरियम को "रोगियों का स्वास्थ्य" पुकारते हुए कहा कि उन्होंने क्रूस पर दुःख भोगते येसु के सामने भी अपने विश्वास को दृढ़ बनाये रखा।  

"हे रोमवासियों की संरक्षिका, आप हमारी आवश्यकताओं को जानती हैं और हम भरोसा रखते हैं कि आप हमारी आवश्यकताओं को पूर्ण करेंगे एवं इस संकट के बाद गलीलिया के काना के समान आनन्द एवं उत्सव फिर लौट आयेगा।"

संत पापा ने कहा है कि हम माता मरियम की सुरक्षा में शरण खोजते हैं, यह जानते हुए कि वे हमारी मदद करेंगी, हम अपने आपको पिता की इच्छा के अनुसार सौंप देते हैं।  

ऐतिहासिक मिसालें

दिव्य प्रेम (दिविनो आमोरे) मरियम तीर्थ पर बुधवार को ख्रीस्तयाग अर्पित करने का एक विशेष ऐतिहासिक महत्व है। संत पापा पीयुस 12वें सन् 1944 के जून महीने में वहाँ की प्रतीमा के सामने प्रार्थना करने गये थे। उन्होंने रोम शहर की रक्षा के लिए प्रार्थना की थी और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इटली से नाज़ी सैनिक पीछे हट गए थे।

अब करीब 75 साल बाद संत पापा फ्राँसिस ने कुँवारी मरियम से प्रार्थना की है कि वे इस संकट के समय में विश्व की रक्षा करें।

माता मरियम से संत पापा फ्राँसिस की प्रार्थना-

"हे माँ मरियम, आप हमारी यात्रा में मुक्ति और आशा के चिन्ह स्वरूप निरंतर हमारे साथ सहानुभूति रखती हैं। हम अपने आपको तुझे समर्पित करते हैं, हे रोगियों के स्वास्थ्य, क्रूस के नीचे येसु की पीड़ा के सामने, आपने अपने विश्वास को दृढ़ बनाये रखा।  

हे रोम वासियों की संरक्षिका, आप जानती है कि हमें किस चीज की आवश्यकता है और हम भरोसा रखते हैं कि आप हमारी आवश्यकताओं को पूर्ण करेंगे एवं इस संकट की घड़ी के बाद, गलीसिया के काना के समान आनन्द एवं उत्सव का समय वापस आयेगा।  

दिव्य प्रेम की माता हमें सहायता दे कि हम अपने आपको पिता की इच्छा को सौंप दें और येसु के कथन पर चल सकें, जिन्होंने स्वयं दुःख सहा और हमारे दुःखों को अपने ऊपर ले लिया है तथा क्रूस के द्वारा पुनरूत्थान का आनन्द प्रदान किया।

हम आपकी सुरक्षा में शरण खोजते हैं, हे ईश्वर की पवित्र माता। हमारी प्रार्थना को अस्वीकार मत कर – जिन्हें परीक्षा की घड़ी से गुजरना पड़ रहा है और हमें हर प्रकार की जोखिम से बचा, हे महान और धन्य कुँवारी।"

12 March 2020, 16:17