खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस के साथ तालिथा कुम के सदस्य संत पापा फ्राँसिस के साथ तालिथा कुम के सदस्य  

सुपर नन्स ˸ मानव तस्करी से संघर्ष करतीं साहसी धर्मबहनें

8 फरवरी को मानव तस्करी के खिलाफ प्रार्थना और जागृति अंतरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर, सुपर नन्स समुदाय चालू करने के लिए, संत पापा फ्राँसिस ने तालिथा कुम एवं गालिलियो फाऊँडेशन के सदस्यों से मुलाकात की। सुपर नन्स समुदाय को चालू करने का उद्देश्य है उन धर्मबहनों के लिए फंड जमा करना जो मानव तस्करी की शिकार लोगों की मदद कर रही हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 8 फरवरी 2020 (रेई)˸ पाँच महादेशों की धर्मबहनों के एक संगठन ने 10 वर्षों तक चुपचाप अपना जीवन, मानव तस्करी को रोकने, उसके शिकार लोगों के जीवन को बचाने, उन्हें प्रोत्साहन देने और उनके पुनर्वास हेतु प्रयास करने के लिए समर्पित किया है। नेटवर्क जिसको "तालिथा कुम" के नाम से जाना जाता है इसके सदस्यों की संख्या 2000 है जो 70 विभिन्न देशों में सेवा दे रही हैं और विगत दो सालों में उन्होंने 15,000 पीड़ितों की मदद की है।

तालिथा कुम

तालिथा कुम का संचालन विश्वभर के काथलिक धर्मसमाजों की परमाधिकारिणीयों के अंतरराष्ट्रीय संघ (यूआईएसजी) द्वारा किया जाता है। धर्मबहनें विभिन्न धर्मों एवं संस्कृति की महिलाओं के साथ सहयोग करती हैं। उनका कार्य श्रम प्रधान है और वे अपने कार्यों एवं सफलताओं की घोषणा सार्वजनिक रूप से नहीं करती हैं।

सुपर नन्स

धर्मबहनों ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जानकारी दी है कि पीड़ित लोगों की गोपनीयता और गरिमा की रक्षा करते हुए सशक्त समर्थकों तक पहुंचने के लिए, तलिथा कुम पैट्रेयोन पर "सुपर नन्स" चालू करने जा रहा है।

सुपर नन्स
सुपर नन्स

वे प्रसिद्ध ईएसपीओ सड़क कलाकार, जापानी एनीमेशन अग्रणी लीजी मात्सुमोतो के साथ तथा 2009 से बहनों के कार्यों से प्रेरित फैन आर्ट बनाने वाले अन्य लोगों के साथ शामिल हो रही हैं। हर महीने सुपर नन, कलाकारों से समुदाय के अनियमित सदस्यों को 10 हस्ताक्षरित प्रिंट देगा। अनुदान की मांग नहीं की गयी है किन्तु समर्थक, हर माह संरक्षण के रूप में 3 से 25 डॉलर दान करेंगे। इससे सीधे तालिथा कुम और इसके प्रयासों को मदद मिलेगी जो आधुनिक युग की बुराई, मानव तस्करी से लड़ने में मदद देगीं। यह बुराई आज करीब हर देश में फैली है एवं लगभग 40 मिलियन लोग इससे प्रभावित है।

गालिलियो फाँडेशन का समर्थन

तालिथा कुम की अंतरराष्ट्रीय संयोजिका सिस्टर गाब्रिएला बोट्टानी ने कहा, "हम पीड़ित लोगों की भावनाओं और बहनों के अथक परिश्रम का चित्रण करने में कलाकारों के अद्भुत समुदाय का लाभ ले रहे हैं।" उन्होंने कहा कि हम सभी लोगों को बतलाना चाहते हैं कि यह कार्य काथलिक कलीसिया में चल रहा है और वे इसका हिस्सा बन सकते हैं।

इएसपीओ के सड़क शिल्पकार, तालिथा कुम के लिए अपने कार्य के बारे बतलाते हैं।

पहल को गालिलियो फाँडेशन का समर्थन प्राप्त है जिन्होंने पोप फ्रांसिस के कहने पर स्थापित संगठन की धर्मबहनों के साथ तीन साल पहले से मिलकर काम किया है। गालिलियो के संस्थापक एवं अध्यक्ष जोन मैककाफ्रे ने कहा, "विश्वभर में धर्मबहनों का कार्य विशेष रूप से संत पापा के हृदय के करीब है।" उन्होंने कहा कि पहले 10 सालों में उनके कार्यों को बड़े विवेक से करना पड़ा है जो बहुधा खतरनाक परिस्थितियों से जुड़ा होता है। "पोप फ्राँसिस ने मुझसे कहा है कि मैं तालिथा कुम एवं साहसी धर्मबहनों के प्रति जागरूकता लाऊँ। ऐसा करने में मुझे प्रसंन्नता है किन्तु अभी दुनिया को उनके निःस्वार्थ साहस को बतलाने एवं उनके मिशन के लिए कुछ रूपये जमा करने की जरूरत है।"

सहयोग की अपील

सिस्टर बोट्टानी ने भली इच्छा रखने वाले सभी लोगों और विश्वभर के काथलिकों को निमंत्रण दिया कि वे इस पहल को सहयोग दें ताकि अनुदान को धरातल तक पहुँचाया जा सके। दान करने एवं अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए तालिथा कुम वेबसाईट पर जाएँ।  

तालिथा कुम के सदस्य
तालिथा कुम के सदस्य
08 February 2020, 15:08