खोज

Vatican News
राखबुध के दिन संत पापा फ्राँसिस राखबुध के दिन संत पापा फ्राँसिस   (AFP or licensors)

28 फरवरी को संत पापा का ट्वीट संदेश

चालीसा काल काथलिकों के लिए एक विशेष अवसर होता है जब प्रार्थना एवं त्याग-तपस्या पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 29 फरवरी 2020 (रेई)˸ चालीसा काल काथलिकों के लिए एक विशेष अवसर होता है जब प्रार्थना एवं त्याग-तपस्या पर विशेष ध्यान दिया जाता है।  

संत पापा फ्राँसिस ने 28 फरवरी को दो ट्वीट संदेश प्रेषित कर, चालीसा काल में भौतिक चीजों की अपेक्षा आध्यात्मिक चीजों पर अधिक ध्यान देने की सलाह दी।

उन्होंने पहले ट्वीट संदेश में लिखा, "चालीसा काल ईश वचन के लिए स्थान बनाने का महान अवसर है। यह टेलीविजन को बंद करने एवं बाईबिल को खोलने का समय है। यह सेल फोन से अपने आपको दूर रखने एवं सुसमाचार से जुड़ने का समय है।"  

दूसरे ट्वीट संदेश में उन्होंने लिखा, "व्यक्ति की प्रतिष्ठा, न्याय, प्रतिस्थापन एवं एकात्मताः यही हमारे "अलगोर नीति" के सार्वजनिक पालन में कलीसिया की सामाजिक शिक्षा का योगदान है। इस निमंत्रण पर आज किया गया हस्ताक्षर इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।"   

 

29 February 2020, 17:23