खोज

Vatican News
संत जोसेप्पिना बकिता संत जोसेप्पिना बकिता 

प्रभु से मुलाकात के आनन्द एवं स्वतंत्रता की साक्ष्यी, संत बकिता

आज कलीसिया में संत जोसेप्पिना बकिता का पर्व मनाया जाता है जो मानव तस्करी की शिकार लोगों की संरक्षिका मानी जाती हैं। संत पापा फ्राँसिस ने एक ट्वीट प्रेषित कर गुलामी को तोड़ने हेतु प्रार्थना की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 8 फरवरी 2020 (रेई)˸ आज कलीसिया में संत जोसेप्पिना बकिता का पर्व मनाया जाता है जो मानव तस्करी की शिकार लोगों की संरक्षिका मानी जाती हैं। संत पापा फ्राँसिस ने एक ट्वीट प्रेषित कर गुलामी को तोड़ने हेतु प्रार्थना की।

उन्होंने संदेश में लिखा, "संत बकिता मानव तस्करी की शिकार लोगों की संरक्षिका, जिन्होंने गुलामी झेली तथा प्रभु से मुलाकात के आनन्द एवं स्वतंत्रता का साक्ष्य दिया। हम प्रार्थना करें कि सभी लोग इस आनन्द को प्राप्त कर सकें एवं गुलामी की जंजीर को तोड़ डालें।"  

संत पापा ने 7 फरवरी के ट्वीट संदेश में विनम्रता का रास्ता अपनाने का प्रोत्साहन दिया उन्होंने कहा, "नारी से उत्पन्न, सबसे महान संत योहन बपतिस्ता और ईश्वर के पुत्र, दोनों ने अपमान का मार्ग चुना। ईश्वर हम ख्रीस्तियों को यही रास्ता दिखलाते हैं जिसमें हम आगे बढ़ सकें। व्यक्ति अपमान के बिना विनम्र नहीं हो सकता।"

 

08 February 2020, 14:05