खोज

Vatican News
संत निकोलस की क्रबगाह बारी में संत पापा फ्रांसिस संत निकोलस की क्रबगाह बारी में संत पापा फ्रांसिस  (Vatican Media)

कलीसिया हेतु प्रार्थना करें, संत पापा

प्रार्थना की प्रेरिताई कलीसिया और पुरोहितों का साथ देती है। यह बात संत पापा ने इटली के बारी निवासियों को निकोलस के महागिरजाघर में अभिवादन करते हुए कही।

दिलीप संजय  एक्का-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 24 फरवरी 2020 (रेई) संत पापा फ्रांसिस ने रविवार को बारी की एकदिवसीय प्रेरितिक यात्रा के दौरान संत निकोलस महागिरजाघर के भूमिगृह में संतों की समृति चिन्हों को शीश नमन किये।

विदित हो कि संतों के अवशेष जो वेदी के नीचे रखे गये हैं सन् 1087 में म्यारा, जो  वर्तमान तुर्की में है, इटली, बारी लाये गये थे।

प्रार्थना ख्रीस्तीय समुदाय की शक्ति

बारी में संत निकोलस महागिरजाघर के प्रांगण में मिस्सा पूजा अर्पण करने के पूर्व संत पापा फ्रांसिस ने उन सभों के प्रति जिन्होंने “भूमध्यसागरीय प्रांत को शांति का स्थल” बनने में मदद की, अपनी कृतज्ञता के भाव व्यक्त किये। अपने हृदय के उद्गार व्यक्त करने के पूर्व उन्होंने थोड़ी देर रुककर बारी के बच्चों को आशीर्वाद दिया। संत पापा ने कहा, “प्रार्थना विशेष रुप से ख्रीस्तीय समुदाय की एक शक्ति है”। आपकी प्रार्थनाओं के सहचर्य की अनुभूति हमें हुई है। आप के इस कार्य हेतु आप का कोटिशः धन्यवाद। आप कलीसिया और इसके पुरोहितों के लिए प्रार्थना करना न भूलें... कठिन परिस्थितियों में हमें और भी अधिक प्रार्थना करने की जरूरत है जिससे ईश्वर हमारी मुसीबतों के निदान हेतु हमारी सहायता करें”।

माता मरियम उदाहरण

माता मरियम की मध्यस्थता द्वारा प्रार्थना करते हुए संत पापा ने कहा कि मरियम हमारी एक ज्वल्लंत उदाहरण हैं, “उन्हें अपने जीवन में बहुत प्रार्थना की” वे हमारी और कलीसिया की यात्रा में सदा हमारे साथ रहें। 

24 February 2020, 16:58