खोज

Vatican News
अमाजोन पर सिनॉड के समय की एक तस्वीर अमाजोन पर सिनॉड के समय की एक तस्वीर  (AFP or licensors)

12 फरवरी को संत पापा के ट्वीट संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने अमाजोन पर धर्माध्यक्षीय धर्मासभा पर प्रेरितिक प्रबोधन प्रकाशित किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 12 फरवरी 2020 (रेई)˸ संत पापा फ्राँसिस ने 12 फरवरी के ट्वीट संदेश में येसु के आशीर्वचन को अपनाने का प्रोत्साहन देते हुए कहा, "धन्य हैं वे जो शोक मनाते हैं उन्हें सांत्वना मिलेगी (मती. 5:4)

धन्य और बुद्धिमान है वह व्यक्ति, जो उस दर्द को स्वीकार करता है, जो प्रेम से आता है क्योंकि वह पवित्र आत्मा की सांत्वना प्राप्त करेगा जिसमें ईश्वर की कोमलता है जो क्षमा करते एवं सुधारते हैं।"

संत पापा फ्राँसिस ने अपने दूसरे द्वीट संदेश में अमाजोन पर धर्माध्यक्षीय धर्मसभा के बाद प्रकाशित प्रेरितिक प्रबोधन को इंगित करते हुए कहा, "मैं इस प्रेरितिक प्रबोधन द्वारा समस्त विश्व को सम्बोधित कर कहा हूँ। मैं ऐसा इसलिए कर रहा हूँ ताकि उस भूमि के प्रति स्नेह एवं चिंता जागृत हो, जो "हमारा" भी है।"

उन्होंने तीसरे ट्वीट संदेश में संत पापा ने अमाजोन के लोगों को सुने जाने एवं उनकी प्रतिष्ठा पर ध्यान दिये जाने की कामना की। "मैं एक ऐसे अमाजोन प्रांत का सपना देखता हूँ जो गरीबों, मूल निवासियों और सबसे निम्न भाई-बहनों के लिए संघर्ष करे, जहाँ उनकी आवाज सुनी जाए और उनकी प्रतिष्ठा बढ़े।"   

12 February 2020, 16:49