खोज

Vatican News
मध्य पूर्व में अमेरिकी आक्रामकता के खिलाफ विरोध मध्य पूर्व में अमेरिकी आक्रामकता के खिलाफ विरोध  (ANSA)

युद्ध के खतरे के बीच संत पापा ने की आत्म-नियंत्रण की अपील

संयुक्त राज्य अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते संकट के बीच, संत पापा फ्रांसिस ने राष्ट्रों से आत्म-नियंत्रण और बातचीत करने का आग्रह किया।

माग्रेट सुनीता मिंज–वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 6 जनवरी 2020 (वाटिकन न्यूज) :“युद्ध सिर्फ तबाही और मौत को लाएगा।” संत पापा फाँसिस ने रविवार 5 जनवरी को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में देव दूत प्रार्थना का पाठ करने के उपरांत चेतावनी के इन शब्दों को कहा।

संत पापा ने किसी भी विशिष्ट देशों का उल्लेख किए बिना कहा कि, दुनिया के कई हिस्सों में "तनाव की भयानक हवा" है। "मैं सभी पक्षों से बातचीत और आत्म-नियंत्रण को आगे बढ़ाने और शत्रुता की छाया को खत्म करने का आह्वान करता हूँ।"

संत पापा ने तब सभी को इस मतलब के लिए एक पल के लिए मौन में प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित किया।

अमेरिका-ईरान तनाव

संत पापा फ्राँसिस की अपील, संयुक्त राज्य अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के कारण आती है, एक अमेरिकी हवाई हमले ने इराक में एक शीर्ष ईरानी जनरल की हत्या कर दी थी।

ईरान के बाहर सैन्य गतिविधियों के लिए ज़िम्मेदार इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स के विंग जनरल कास्सेम सोलेमानी क्वॉड्स फोर्स का कमांडर था।

शुक्रवार को बगदाद में उनकी मौत ने अमेरिका और ईरान के बीच सीधे टकराव का खतरा पैदा कर दिया।

इराकी चिंता

खलदेई काथलिक कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष, कार्डिनल लुई राफेल साको ने बताया कि इस घटना से इराकी लोग दहशत में हैं।

उन्होंने सभी देशों से संयम बरतने, यथोचित कार्य करने और बैठकर विचार विमर्श करने का आह्वान किया।

06 January 2020, 16:45