खोज

Vatican News
पाराग्वे के राजदूत का प्रत्यय पत्र स्वीकार करते हुए संत पापा फ्राँसिस पाराग्वे के राजदूत का प्रत्यय पत्र स्वीकार करते हुए संत पापा फ्राँसिस  (Vatican Media)

संत पापा ने पाराग्वे के राजदूत का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया

संत पापा ने पाराग्वे के राजदूत श्री अल्फ्रेडो ओस्वाल्दो ऑगस्टो रात्ती जेग्गली का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 13 जनवरी 2020 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार 13 जनवरी को वाटिकन में पाराग्वे के नये राजदूत श्री अल्फ्रेडो ओस्वाल्दो ऑगस्टो रात्ती जेग्गली से मुलाकात की और उनका प्रत्यय पत्र स्वीकार किया।

श्री अल्फ्रेडो ओस्वाल्दो का जन्म 20 जून, 1939 को असिनकॉन में हुआ था। वे शादीशुदा है और उनके दो बच्चे हैं। उन्होंने कानून में स्नातक की उपाधि प्राप्त की और नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ एस्किनटन (1965) से वकालत की डिग्री हासिल की। उन्होंने पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय (1969) और न्यू असुनसियोन के लोयोला विश्वविद्यालय (1970) में अंतर्राष्ट्रीय मामलों में अपनी पढ़ाई पूरी की।

उन्होंने निम्नलिखित पदों पर कार्य किया हैं:

- पाराग्वे में काथोलिक एक्शन के राष्ट्रीय नेता (1962-1968)।

- असुनसियोन विश्वविद्यालय में लोक प्रशासन कार्यकर्ता शिक्षा केंद्र के डिप्टी डायरेक्टर, (1964 -1971)।

- काथलिक विश्वविद्यालय "एन.एस. डी असुनसियोन" के प्रोफेसर (1972 - 1988)।

- कानूनी-वाणिज्यिक परामर्श कंपनी मॉनिटर के अध्यक्ष (1973 - 2003)।

- पैराग्वे शांति कोर स्वयंसेवक प्रशिक्षण केंद्र के निदेशक (1974 - 1980)।

- इटापिपु जलविद्युत संयंत्र के निर्माण के लिए कंसल्टोरा इलेक्ट्रोमोन कंपनी के उपाध्यक्ष (1982 - 1990)।

- सीनेटर, लोक निर्माण और विदेश मामलों के आयोगों के अध्यक्ष (2003 - 2008)।

- वर्तमान में वे एयूएडी वाई कांस्ट्रेसी निदेशक मंडल और इंगोर एस.ए.में वित्तीय प्रबंधक थे।

अपनी मातृभाषा के अलावा वे अंग्रेजी, इतालवी और गुआरानी भाषाएँ जानते हैं।

13 January 2020, 14:54