खोज

Vatican News
बैंककॉक के विश्वविद्यालय में अन्तरधर्म सम्वाद समारोह- 22.11.2019 बैंककॉक के विश्वविद्यालय में अन्तरधर्म सम्वाद समारोह- 22.11.2019   (AFP or licensors)

विश्वविद्यालयीन कुलपति, धर्माध्यक्ष द्वारा सन्त पापा का स्वागत

बैंककॉक के चूलालॉन्गकार्न विश्वविद्यालय में सन्त पापा फ्रांसिस ने थायलैण्ड के बौद्ध, ख्रीस्तीय एवं अन्य धर्मों के नेताओं से मुलाकात की तथा इन्हें अपना सन्देश दिया। इस अवसर पर चूलालॉन्गकार्न विश्वविद्यालय के कुलपति प्राध्यापक डॉ. बुन्दित एयुर आरपोर्न ने धार्मिक नेताओं के बीच सन्त पापा का स्वागत करते हुए अभिवादन पत्र पढ़ा।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

बैंककॉक, शुक्रवार, 22 नवम्बर 2019 (रेई,वाटिकन रेडियो): बैंककॉक के चूलालॉन्गकार्न विश्वविद्यालय में सन्त पापा फ्रांसिस ने थायलैण्ड के बौद्ध, ख्रीस्तीय एवं अन्य धर्मों के नेताओं से मुलाकात की तथा इन्हें अपना सन्देश दिया। इस अवसर पर चूलालॉन्गकार्न विश्वविद्यालय के कुलपति प्राध्यापक डॉ. बुन्दित एयुर आरपोर्न ने धार्मिक नेताओं के बीच सन्त पापा का स्वागत करते हुए अभिवादन पत्र पढ़ा।

उच्च शिक्षा और मानवीय मूल्य

उन्होंने बताया कि उक्त विश्वविद्यालय की स्थापना थायलैण्ड के पूर्व सम्राट चूलालॉन्गकार्न के नाम पर सन् 1917 ई. में हुई थी और तब से ही यह विश्वविद्यालय सभी धर्मों, जातियों, लिंगों एवं सामाजिक पृष्ठभूमियों के युवाओं को उच्च शिक्षा के साथ-साथ मानवीय मूल्यों की भी शिक्षा देता रहा है। इसीलिये, उन्होंने कहा, "सन् 1984 में सम्पन्न सन्त पापा जॉन पौल द्वितीय की यात्रा के बाद आज, सन्त पापा फ्राँसिस, थायलैण्ड में आपकी आधिकारिक यात्रा पर हम सब हर्षित हैं।" उन्होंने कहा, "हम आज आपकी प्रज्ञा, विश्व के निर्धनों के प्रति आपकी करुणा, प्राकृतिक संसाधनों औप पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति आपकी उत्कंठा तथा धर्मों, देशों एवं संस्कृतियों के बीच सार्थक अंतरधर्म-संवाद एवं शांति-निर्माण हेतु आपके अनवरत प्रयासों से शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं।"

विवेकी परामर्श सबके लिये अनमोल

इसी बीच, थायलैण्ड धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अन्तरधर्म सम्वाद एवं ख्रीस्तीयों के बीच एकता हेतु गठित आयोग के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष चूसाक सिरिसूत ने भी धार्मिक नेताओं के बीच सन्त पापा फ्राँसिस का हार्दिक स्वागत किया। उन्होंने कहा कि सन्त पापा का विवेकी परामर्श केवल काथलिकों के लिये ही नहीं अपितु राष्ट्र एवं सम्पूर्ण विश्व के सभी धर्मों के लोगों के लिये उपयोगी एवं अनमोल है।  

बैंककॉक के चूलालॉन्गकार्न विश्वविद्यालय में आयोजित अन्तर-धार्मिक समारोह में विभिन्न धर्मों के 18 धार्मिक नेता तथा लगभग डेढ़ हज़ार विश्वविद्यालयीन छात्र एवं विद्धान उपस्थित थे। इस समारोह के उपरान्त सन्त पापा फ्राँसिस ने बैंककॉक के मरियम महागिरजाघर में ख्रीस्तयाग  अर्पित कर देश के युवाओं को अपना सन्देश दिया तथा थायलैण्ड में नये गिरजाघरों के निर्माण हेतु 25 शिलाखण्डों पर आशीष दी।  

22 November 2019, 11:31