खोज

Vatican News
इथोपिया में तनाव इथोपिया में तनाव   (AFP or licensors)

संत पापा ने इथोपिया के पीड़ित ख्रीस्तियों के लिए प्रार्थना की

अक्टूबर माह में हुए तनाव के कारण इथोपिया में करीब 70 से अधिक लोगों की मौत हो गयी है। तनाव की शुरूआत सुरक्षा बल एवं प्रमुख राजनीतिक कार्यकर्ता के बीच हुए झगड़े से हुई। सरकार का कहना है कि हिंसा में जातीय एवं धार्मिक तत्वों की भूमिका है। इथोपिया की ऑर्थोडॉक्स तेवाहेदो कलीसिया पूर्वी ऑर्थोडॉक्स कलीसियाओं में सबसे बड़ी कलीसिया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 4 नवम्बर 2019 (रेई)˸ देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा फ्राँसिस ने इथोपिया के ख्रीस्तियों के प्रति सहानुभूति प्रकट करते हुए कहा, "मैं इथोपिया की तेवाहेदो ऑर्थोडॉक्स कलीसिया के ख्रीस्तियों द्वारा हिंसा से पीड़ित होने की खबर सुन दुःखी हूँ। मैं इस प्रिय कलीसिया एवं प्राधिधर्माध्यक्ष अबूना मथियस के प्रति अपना आध्यात्मिक सामीप्य व्यक्त करता हूँ और उस भूमि में हिंसा के शिकार सभी लोगों के लिए आप से प्रार्थना की मांग करता हूँ। हम एक साथ प्रार्थना करें। संत पापा ने एक साथ प्रणाम मरिया प्रार्थना का पाठ किया।"

अक्टूबर माह में हुए तनाव के कारण इथोपिया में करीब 70 से अधिक लोगों की मौत हो गयी है। तनाव की शुरूआत सुरक्षा बल एवं प्रमुख राजनीतिक कार्यकर्ता के बीच हुए झगड़े से हुई। सरकार का कहना है कि हिंसा में जातीय एवं धार्मिक तत्वों की भूमिका है। इथोपिया की ऑर्थोडॉक्स तेवाहेदो कलीसिया पूर्वी ऑर्थोडॉक्स कलीसियाओं में सबसे बड़ी कलीसिया है।  

पुलिया के अधिकार को धन्यवाद

तब संत पापा ने पुलिया के संत सेवेरो धर्मप्रांत एवं वहाँ की नगरपालिका के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त की, जिसने 28 अक्टूबर को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया, जो फोज्जा क्षेत्र में "कपितानाता की बस्ती" के मजदूरों को पल्लियों में और नगरपालिका के कार्यालय में पंजीकृत होकर रहने की अनुमति देगा। पहचान पत्र एवं आवास प्रमाण पत्र प्राप्त करने की संभावना उन्हें नयी प्रतिष्ठा प्रदान करेगा और उन्हें अनियमितता एवं शोषण की स्थिति से बाहर निकलने में मदद देगा। संत पापा ने कहा, "शहर समिति और जिन्होंने इस योजना को साकार करने के लिए काम किया है उन सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद।"  

उसके बाद संत पापा ने सभी तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों को सम्बोधित किया, खासकर, उन्होंने स्कूतजेन के ऐतिहासिक निगम एवं विभिन्न यूरोपीय देशों के संत सेबास्तियन के शूरवीरों पुर्तगाल के लोरदेलो दी औरो के विश्वासियों का अभिवादन किया।

संत पापा ने रेज्जो कलाब्रिया, त्रेविजो, पेस्कारा और अस्प्रोमोंते के संत यूफेमिया के दलों का अभिवादन किया एवं दृढ़ीकरण ग्रहण करने वाले एवं स्काऊट के युवाओं का भी अभिवादन किया। साथ ही साथ, उन्होंने स्पेन के हाकूना आंदोलन के सदस्यों का भी अभिवादन किया।

अंत में संत पापा ने प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगल कामनाएँ अर्पित की।

04 November 2019, 15:14