खोज

Vatican News

पोप जापान पहुँचे, कार्यक्रम की शुरूआत धर्माध्यक्षों के साथ

संत पापा फ्राँसिस थाईलैंड से विदा होकर 23 नवम्बर को जापान पहुँचे और इसी से उनकी 32वीं प्रेरितिक यात्रा के दूसरे भाग की शुरूआत हुई। वहाँ संत पापा का पहला कार्यक्रम है प्रेरितिक दूतावास में धर्माध्यक्षों से मुलाकात।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

जापान, शनिवार, 23 नवम्बर 2019 (रेई)˸ जापान की प्रेरितिक यात्रा जो अगले 26 नवम्बर तक जारी रहेगी, संत पापा स्थानीय समयानुसार 5.32 बजे टोक्यो पहुँचे। शाम के बढ़ते अंधेरे के बीच, हवाई अड्डे के प्रकाश में, भारी वर्षा और तेज हवा के साथ जापान के उप-प्रधानमंत्री तारो असो, धर्माध्यक्षों, पुरोहितों तथा काथलिक स्कूल के एक सौ विद्यार्थियों ने स्पानी भाषा में स्वागतम लिखे बैनर के साथ, संत पापा का स्वागत किया। स्वागत कार्यक्रम के तुरन्त बाद हवाई अड्डे के तीसरे वीआईपी कमरे में जापान के उप-प्रधानमंत्री के साथ उनकी छोटी व्यक्तिगत मुलाकात हुई।

जापान में संत पापा एक विश्वव्यापी आध्यात्मिक गुरू के रूप में

करीब 20 मिनट बाद संत पापा हवाई अड्डे से प्रस्थान किये। वे जापान के चियोडा जिला स्थित प्रेरितिक राजदूतावास पहुँचे, जहाँ प्रांगण में करीब 200 विश्वासियों एवं प्रवेश द्वार पर दूतावास के सदस्यों ने उनका स्वागत किया। स्वागत के बाद प्रेरितिक राजदूतावास में संत पापा ने काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन से मुलाकात की जिसमें जापान के तीन महाधर्मप्रांतों एवं 13 धर्मप्रांतों के धर्माध्यक्ष उपस्थित थे। उगते सूरज की धरती में प्रेरितिक यात्रा का आदर्शवाक्य है, "हरेक जीवन की रक्षा।"  

जापान के धर्माध्यक्षों से मिले संत पापा फ्राँसिस

 

 

 

 

23 November 2019, 14:50