खोज

Vatican News
टोकियो में विमान से उतरते सन्त पापा फ्राँसिस- 23.11.2019 टोकियो में विमान से उतरते सन्त पापा फ्राँसिस- 23.11.2019  (Vatican Media)

विमान से चीन, तायवान तथा हॉन्ग कॉन्ग के नेताओं को शुभकामनाएँ

बैंककॉक से टोकियो हवाई यात्रा के दौरान सन्त पापा फ्रांसिस ने थायलैण्ड के पड़ोसी देश चीन, तायवान एवं हॉन्ग कॉन्ग के राष्ट्राध्यक्षों के नाम तार सन्देश प्रेषित कर उनके देशों में सुख-समृद्धि की हार्दिक शुभकामना व्यक्त की।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

विमान से, शनिवार, 23 नवम्बर 2019 (रेई,वाटिकन रेडियो): बैंककॉक से टोकियो हवाई यात्रा के दौरान सन्त पापा फ्रांसिस ने थायलैण्ड के पड़ोसी देश चीन, तायवान एवं हॉन्ग कॉन्ग के राष्ट्राध्यक्षों के नाम तार सन्देश प्रेषित कर उनके देशों में सुख-समृद्धि की हार्दिक शुभकामना व्यक्त की।

चीन के काथलिकों  के बीच एकता के प्रयास

परमधर्मपीठीय नवाचार के अनुकूल काथलिक कलीसिया के परमाध्यक्ष अपनी हवाई यात्राओं के मार्ग में पड़नेवाले राष्ट्रों के नाम तार सन्देश प्रेषित करते रहे हैं। हालांकि, चीन ने लगभग पचास वर्षों पूर्व परमधर्मपीठ से कूटनैतिक सम्बन्ध तोड़ लिये थे फिर भी चीन के राष्ट्राध्यक्षों को भी यह सन्देश भेजा जाता रहा है।

अपने पूर्वर्तियों के समान ही सन्त पापा फ्राँसिस भी अपने परमाध्यक्षीय काल के आरम्भिक बिन्दु से ही चीनी सरकार समर्थित आधिकारिक कलीसिया तथा भूमिगत चीनी काथलिक कलीसिया के बीच एकता का प्रयास करते रहे हैं। इसी के तहत 2018 में वाटिकन तथा चीन ने चीनी काथलिक धर्माध्यक्षों की नियुक्तियों पर एक संयुक्त दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर किये थे। दुर्भाग्यवश, इसके बावजूद वाटिकन तथा चीन के बीच, विशेष रूप से, तायवान को लेकर तनाव बने हुए हैं।

चीन, तायवान और हॉन्ग कॉन्ग को तार सन्देश     

शनिवार का पहला तार सन्देश चीन के राष्ट्रपति झी जिनपिंग के नाम तब प्रसारित किया गया जब सन्त पापा का विमान हैनान द्वीप के हवाई क्षेत्र से गुज़र रहा था। सन्त पापा फ्रांसिस ने लिखा, "जापान के रास्ते चीन के हवाई क्षेत्र से गुज़रते हुए मैं आपको महानुभाव सौहार्दपूर्ण शुभकामनाएँ प्रेषित करता हूँ। चीन और उसके सभी लोगों को मैं अपनी प्रार्थनाओं का आश्वासन देता हूँ तथा आप सब पर शांति एवं आनन्द की प्रचुर आशीष की कामना करता हूँ।"  

इसी प्रकार, सन्त पापा ने हांगकांग के मुख्य कार्यकारी कैरी लैम को प्रेषित तार सन्देश में लिखा, "आपके हवाई क्षेत्र से यात्रा करते हुए मैं आपको और आपके साथी नागरिकों को हार्दिक मंगलकामनाएँ व्यक्त करता हूँ। दैवीय आशीष की प्रार्थना करते हुए, मैं आप सब के लिये शांति की सर्वशक्तिमान प्रभु ईश्वर से मंगलयाचना करता हूँ।" तायवान के राष्ट्रपति साय इंग वेन के नाम भी सन्त पापा ने तार सन्देश प्रेषित किया तथा वहाँ के लोगों को भी अपनी प्रार्थनाओं का आश्वसन देकर उनपर ईश्वर के आशीर्वाद की विनती की।

वाटिकन वह अन्तिम राष्ट्र है जिसके तायवान के साथ कूटनैतिक सम्बन्ध बरकरार हैं। ग़ौरतलब है कि चीन तायवान को अपना ही द्वीप मानता है तथा उसके अलग राष्ट्र होने का विरोध करता है।  

23 November 2019, 11:44