खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस के साथ महाधर्माध्यक्ष गब्रिएल जोर्दानो काच्चा संत पापा फ्राँसिस के साथ महाधर्माध्यक्ष गब्रिएल जोर्दानो काच्चा  

फिलीपींस के प्रेरितिक राजदूत, यूएन के नये स्थायी पर्यवेक्षक

इटालियन महाधर्माध्यक्ष गब्रिएल जोर्दानो काच्चा संयुक्त राष्ट्र में परमधर्मपीठ के नए प्रतिनिधि नियुक्त हुए।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 18 नवम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 16 नवम्बर को महाधर्माध्यक्ष गब्रिएल जोर्दानो काच्चा संयुक्त राष्ट्र में परमधर्मपीठ के नए प्रतिनिधि एवं नये स्थायी पर्यवेक्षक के रुप में नियुक्त किया। वे फिलीपीन के महाधर्माध्यक्ष बेर्नार्दितो औजा का स्थान ग्रहण कर रहे हैं। संत पापा ने 1 अक्टूबर, 2019 को महाधर्माध्यक्ष बेर्नार्दितो औजा को स्पेन और अंडोर्रा का प्रेरितिक राजदूत नियुक्त किया।

12 सितम्बर 2017 से महाधर्माध्यक्ष गब्रिएल जोर्दानो काच्चा फिलीपींस में प्रेरितिक राजदूत के रुप में अपनी सेवा प्रदान की है।

जीवनी

महाधर्माध्यक्ष गाब्रिएल का जन्म ईटली के मिलान में 24 फरवरी 1958 को हुआ। 11 जून 1983 को उनका पुरोताभिषेक हुआ। तीन वर्षों तक पल्ली में अपनी सेवा देने के बाद उन्हें पढ़ने के लिए रोम भेजा गया। उन्होंने पोंटिफ़िकल एक्लेसियासटिकल अकाडमी में धर्मशास्त्र में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की और पोंटिफिकल ग्रेगोरियन यूनिवर्सिटी से कैनन लॉ में मास्टर की डिग्री हासिल की।

1991 में उन्होंने परमधर्मपीठ की राजनयिक सेवा में प्रवेश किया। उनका पहला काम तंजानिया के प्रेरितिक दूतावास में था, जहाँ उन्होंने दो साल तक अपनी सेवा दी, 1993 में वे वाटिकन के सामान्य मामलों के सचिवालय में काम करने के लिए रोम लौटे।

17 दिसंबर, 2002 को उन्हें राज्य सचिवालय के सामान्य मामलों का आंकलनकर्ता नियुक्त किया गया। 16 जुलाई 2009 को, संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उन्हें लेबनान का महाधर्माध्यक्ष और प्रेरितिक राजदूत नियुक्त किया।

12 सितंबर, 2009 को संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उन्हें धर्माध्यक्षीय अभिषेक दिया। 12 सितंबर 2017 को, संत पापा फ्राँसिस ने उन्हें फिलीपींस में प्रेरितिक राजदूत नियुक्त किया।

वे 16 जनवरी, 2020 को अपनी नई जिम्मेदारियों को संभालने के लिए न्यूयॉर्क पहुंचेंगे। वे अंग्रेजी, फ्रेंच और जर्मन बोलते हैं।

18 November 2019, 16:52