Cerca

Vatican News
तुर्की स्थित कुस्तुनतुनिया की प्राधिधर्माध्यक्षीय प्रतिनिधिमण्डल के संग - 29.06.2019 तुर्की स्थित कुस्तुनतुनिया की प्राधिधर्माध्यक्षीय प्रतिनिधिमण्डल के संग - 29.06.2019  

सन्त पेत्रुस के अवशेषों पर सन्त पापा फ्राँसिस का पत्र

सन्त पापा फ्राँसिस ने तुर्की स्थित कुस्तुनतुनिया के प्राधिधर्माध्यक्ष बारथोलोमेओ को एक पत्र में सन्त पेत्रुस के अवशेषों सम्बन्धी उपहार के विषय में लिखा है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 13 सितम्बर 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): सन्त पापा फ्राँसिस ने तुर्की स्थित कुस्तुनतुनिया के प्राधिधर्माध्यक्ष बारथोलोमेओ को एक पत्र में सन्त पेत्रुस के अवशेषों सम्बन्धी उपहार के विषय में लिखा है।

सन्त पेत्रुस के अवशेषों का उपहार

विगत 29 जून को सन्त पेत्रुस एवं सन्त पौलुस के महापर्व के उपलक्ष्य में रोम आये कुस्तुनतुनिया के प्रतिनिधिमण्डल के माध्यम से सन्त पापा फ्राँसिस ने पूर्वी रीति की कुस्तुनतुनियाई कलीसिया को सन्त पेत्रुस के अवशेष उपहार स्वरूप भेंट किये थे। 30 अगस्त को हस्ताक्षरित सन्त पापा फ्राँसिस द्वारा प्राधिधर्माध्यक्ष बारथोलोमेओ को प्रेषित पत्र की प्रकाशना शुक्रवार को वाटिकन द्वारा की गई।

पत्र में सन्त पापा फ्रांसिस ने लिखा कि रोमन साम्राज्य के समय सन्त पेत्रुस की शहादत के परान्त उनके अवशेष वाटिकन की पहाड़ी में मिले थे जो सन्त पेत्रुस महागिरजाघर में प्रतिष्ठापित हैं तथा जो सदियों के अन्तराल में सम्पूर्ण विश्व के तीर्थयात्रियों की आराधना-अर्चना का लक्ष्य रहे हैं। उन्होंने लिखा कि सन् 1952 में महागिरजाघर की प्रमुख वेदी के नीचे सन्त पेत्रुस के अवशेष मिले थे जिन्हें वहीं प्रतिष्ठापित कर दिया गया था।

सन्त के अवशेष सहभागिता का संकेत

सन्त पापा ने लिखा कि रोम एवं कुस्तुनतुनिया की कलीसियाएँ दोनों ही सन्त अन्द्रेयस और सन्त पेत्रुस की भक्ति करते हैं और इसी कारण यह उपयुक्त ही है कि सन्त अन्द्रेयस के अवशेषों के संग-संग सन्त पेत्रुस के अवशेष भी कुस्तुनतुनिया की कलीसिया के पास हों। सन्त पापा ने लिखा कि उनका यह उपहार दोनों कलीसियाओं के बीच पूर्ण सहभागिता का एक महत्वपूर्ण और महान संकेत है।  

13 September 2019, 11:06