Cerca

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

31वीं प्रेरितिक यात्रा की समाप्ति पर संत पापा की वाटिकन वापसी

संत पापा फ्राँसिस ने मोजाम्बिक, मडागास्कर एवं मॉरिशस में अपनी छः दिवसीय प्रेरितिक यात्रा सफलता पूर्वक समाप्त की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

पोर्ट लुईस, मंगलवार, 10 सितम्बर 2019 (रेई) अपनी यात्रा के अंतिम दिन 9 सितम्बर को उन्होंने मॉरिशस के पोर्ट लुईस में शांति की रानी मरियम तीर्थस्थल पर करीब एक लाख विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग अर्पित किया। उन्होंने वहाँ धन्य पेरे लावाल की समाधि का दर्शन कर उसे श्रद्धा सुमन अर्पित किया। मॉरिशस के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री एवं अन्य सभी अधिकारियों से मुलाकात करने के बाद संत पापा शाम को मॉरिशस से विदा होकर, पुनः अंतानानारिवो हवाई अड्डा लौटे, जहाँ से विदा होकर वे रोम लौट रहे हैं।

संत पापा 10 सितम्बर को शाम करीब 7.00 बजे रोम के चम्पिनो हवाई अड्डा पहुँचेंगे।

मडागास्कर के राष्ट्रपति, अन्य राजनीतिक नेताओं, मडागास्कर के धर्माध्यक्ष एवं विश्वासियों की भीड़ के हवाई अड्डे पर संत पापा को विदाई दी। वहीँ उन्हें अंतिम सैन्य सलामी दी गयी।  

संत पापा ने छः दिनों की प्रेरितिक यात्रा में तीन विभिन्न देशों का दौरा किया। वे  सबसे पहले मोजाम्बिक गये जो दक्षिण अफ्रीका के छः देशों की सीमा तथा दूसरी ओर हिंद महासागर तटरेखा पर स्थित है, जो हाल के समझौते के बाद एक स्थायी शांति में सुदृढ़ होता दिखाई पड़ रहा है। मोजाम्बिक के बाद वे मडागास्कर गये जो एक अद्वितीय जैव विविधता का देश है किन्तु वहाँ अत्यधिक गरीबी भी है। तब अंत में संत पापा मॉरिशस गये जो एक ऐसा द्वीप है जिसमें कई धर्मों एवं संस्कृति के लोग मिश्रित होकर रहते है।  

पिछली कई यात्राओं में उन्हें ले जाने वाले विमानों के अनुसार, पोप फ्रांसिस एक सरल यात्री हैं। वे अपनी विनम्रता एवं विनोदी मिजाज के लिए जाने जाते हैं। विमान पर उनका स्वागत करने के लिए बहुत कम विशेष सुविधाओं की आवश्यकता होती है और वाटिकन के सुझावों के साथ भोजन सेवा की व्यवस्था की जाती है।

निश्चय ही, विमान को प्रेस कॉन्फ्रेंस की मेजबानी करने के लिए तैयार होना पड़ता है, जिसमें परंपरागत रूप से विदेश में अपनी प्रेरितिक यात्रा के बाद वापसी यात्रा के दौरान संत पापा पत्रकारों से बातचीत करते तथा उनके सवालों का उत्तर देते हैं।

10 September 2019, 14:57