खोज

Vatican News
तीन नए प्रेरितिक राजदूत तीन नए प्रेरितिक राजदूत 

संत पापा द्वारा तीन नए प्रेरितिक राजदूतों की नियुक्त

संत पापा फ्राँसिस ने तीन नए प्रेरितिक राजदूतों मोनसिन्योर अंतोनी कैमिलेरी, महाधर्माध्यक्ष पावलो रुदेली और महाधर्माध्यक्ष पावलो बोर्गिया को नियुक्त किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 4 सितम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने मंगलवार 3 सितम्बर को तीन नये प्रेरितिक राजदूतों को नियुक्त किया। कानून संहिता की धारा 364 के अनुसार, प्रेरितिक राजदूत का मुख्य कार्य परमधर्मपीठ और किसी भी स्थानीय कलीसिया के बीच संबंधों को मजबूत करना है।

मोनसिन्योर अंतोनी कैमिलेरी

मोनसिन्योर अंतोनी कैमिलेरी अब तक राज्य सचिवालय के विदेश मामलों के कार्यालय में उप-सचिव के रूप में काम कर रहे हैं। उन्हें आइलैंड में स्केहोल्ट महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया, साथ ही उन्हें प्रेरितिक राजदूत का कार्य सौंपा गया।

20 अगस्त 1965 को सलीमा (माल्टा) में जन्मे, कैमिलेरी का 5 जुलाई 1991 को पुरोहिताभिषेक हुआ। उन्होंने कानून और कलीसिया की कानून सहिंता में स्नातक किया। उन्होंने 9 जनवरी 1999 को परमधर्मपीठ की कूटनीतिक सेवा में प्रवेश किया और पापुआ न्यू गिनी, युगांडा, क्यूबा में राज्य सचिवालय के विदेश मामलों के कार्यालय में परमधर्मपीठ के प्रतिनिधि के रुप में काम किया। 22 फरवरी 2013 को, उन्हें राज्य सचिवालय के विदेश मामलों के कार्यालय में उप-सचिव के रूप में नियुक्त किया गया। वे सात भाषाओं में धाराप्रवाह है: इतालवी, अंग्रेजी, स्पेनिश, फ्रेंच, पुर्तगाली, रोमानियाई और रूसी।

महाधर्माध्यक्ष पावलो रुदेली

मेसेंम्ब्रिया, बुल्गारिया के महाधर्माध्यक्ष पावलो रुडेली वर्तमान में वे स्ट्रासबर्ग में यूरोप काउंसिल में परमधर्मपीठ के विशेष दूत और स्थायी पर्यवेक्षक हैं।

महाधर्माध्यक्ष पावलो रुडेली का जन्म गाजानिंगा (इटली) में 16 जुलाई 1970 को हुआ और 10 जून 1995 को पुरोहिताभिषेक हुआ। उन्होंने उत्तर इटली के बेरगमों शहर में अपनी प्रेरितिक सेवा दी। उन्होंने कलीसिया की कानून सहिंता में स्नात्कोत्तर और नैतिक ईशशास्त्र में स्नातक की डिग्री प्राप्त की। 1 जुलाई 2001 को परमधर्मपीठ की राजनयिक सेवा में प्रवेश करने के बाद, रुदेली ने इक्वाडोर और पोलैंड में और राज्य सचिवालय के सामान्य मामलों के अनुभाग में परमधर्मपीठ के प्रतिनिधि के रुप में काम किया। वे पांच भाषाओं में बोलते हैं: इतालवी, अंग्रेजी, फ्रेंच, स्पेनिश और पोलिश।

महाधर्माध्यक्ष पावलो बोर्गिया

संत पापा फ्राँसिस ने इटली मिल्ज्जो महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष पावलो बोर्गिया को प्रेरितिक राजदूत के रूप में नियुक्त किया है। वर्तमान में  वे राज्य सचिवालय के सामान्य मामलों के अनुभाग में आकलनकर्ता के रूप में कार्य कर रहे हैं।

धर्माध्यक्ष पावलो बोर्गिया का जन्म 18 मार्च 1966 को मैनफ्रेडोनिया (इटली) में हुआ था। 10 अप्रैल, 1999 को उनका पुरोहिताभिषेक हुआ और दक्षिणी इटली के मैनफ्रेडोनिया-विएस्ट-सैन जोवन्नी रोतोंदो में प्रेरितिक सेवा दी। उन्होंने कलीसिया की कानून सहिंता में स्नातक किया। 1 दिसंबर 2001 को परमधर्मपीठ की राजनयिक सेवा में प्रवेश किया और मध्य अफ्रीकी गणराज्य, मैक्सिको, इजरायल और लेबनान में  परमधर्मपीठ के प्रतिनिधि के रुप में काम किया। राज्य सचिवालय के विदेश मामलों के कार्यालय में और राज्य सचिवालय के सामान्य मामलों के अनुभाग में कार्य किया। 4 मार्च 2016 को उन्हें राज्य सचिवालय के सामान्य मामलों के लिए मूल्यांकनकर्ता नियुक्त किया गया था। वे इतालवी, अंग्रेजी, स्पेनिश और फ्रेंच भाषाएं बोलते हैं।

04 September 2019, 16:34