खोज

Vatican News
कार्डिनल लेवादा के मृत शरीर पर आशीष प्रदान करते संत पापा फ्राँसिस कार्डिनल लेवादा के मृत शरीर पर आशीष प्रदान करते संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

कार्डिनल लेवादा के निधन पर संत पापा का शोक संदेश

विश्वास एवं धर्म सिद्धान्त सम्बन्धी परमधर्मपीठीय समिति के पूर्वाध्यक्ष कार्डिनल विलियम जोसेफ लेवादा के निधन पर संत पापा फ्राँसिस ने गहन शोक व्यक्त किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 28 सितम्बर 2019 (रेई)˸ कार्डिनल विलियम लेवादा का निधन 26 सितम्बर को हुआ। वे 83 साल के थे।

संत पापा फ्राँसिस ने सन फ्राँसिस्को के महाधर्माध्यक्ष साल्वातोरे जे. कोरदिलेओने को एक तार संदेश भेजकर कार्डिनल लेवादा के निधन पर शोक व्यक्त किया तथा महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष, पुरोहितों, धर्मसमाजियों एवं विश्वासियों को अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रकट किया।  

 

संत पापा ने कलीसिया में कार्डिनल की सेवाओं को बड़ी कृतज्ञता के साथ याद किया। उन्होंने कहा कि कार्डिनल लेवादा ने एक पुरोहित एवं धर्माध्यक्ष के रूप में लोस एंजेल्स, पोर्टलैंड और सन फ्राँसिस्को में, धर्मशिक्षा, शिक्षा और प्रशासन के क्षेत्र में एवं परमधर्मपीठ को अपनी महत्वपूर्ण सेवा दी है।

सन् 1983 में संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने विलियम लेवादा को लोस एंजेल्स का सहायक धर्माध्यक्ष नियुक्त किया था। वे सन् 1986 में पोर्टलैंड और सन् 1995 में सन फ्राँसिसको गये जहाँ उन्होंने महाधर्माध्यक्ष के रूप में सेवा प्रदान की।

1980 के दशक में महाधर्माध्यक्ष लेवादा ने "काथलिक कलीसिया की धर्मशिक्षा" के लिए कार्डिनल जोसेफ रतजिंगर (संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें) के साथ नजदीकी से काम किया। जब कार्डिनल रतजिंगर 2005 में संत पापा चुने गये थे तब उन्होंने महाधर्माध्यक्ष विलियम लेवादा को विश्वास के सिद्धांत के लिए गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ का अध्यक्ष नियुक्त किया था। उसके एक साथ बाद संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उन्हें कार्डिनल बनाया था।  

28 September 2019, 16:23