खोज

Vatican News
इतालवी प्रेरिताई संघ के सदस्यों से संत पापा की मुलाकात इतालवी प्रेरिताई संघ के सदस्यों से संत पापा की मुलाकात 

येसु के प्रेम से प्रेरित सुसमाचार का प्रचार करें

संत पापा फ्रांसिस ने इतालवी प्रेरिताई संघ में मुलाकात करते हुए उन्हें अपने संदेश में कहा कि मसीह का प्रेम हमें प्रेरित करता है।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 30 अगस्त 2019 (रेई) संत पापा फ्रांसिस ने इतालवी प्रेरिताई संघ में मुलाकात करते हुए उन्हें अपने संदेश में कहा कि आनंद के अनुपस्थिति में हम सच्चे सुसमाचार का प्रचार नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि विशिष्ट प्रेरिताई महीने की शुरूआत से पहले हमारा यह मिलन अपने में ईश्वरीय कृपा का स्रोत है। सर्वप्रथम मैं अपके संस्थापक हेतु ईश्वर का धन्यवाद अदा करता हूं जिन्होंने 9वीं और 20वीं सदी की चुनौतियों के मध्य इस धार्मिक परिवारों के संघ की स्थापना की जो ईश्वर में उनके विश्वास और साहस के साथ विश्व के प्रति उनकी उदारता में खुलेपन को व्यक्त करता है।

प्रेरितिक जीवन साहस का सुसमाचार है जहाँ हम ईश्वर पर भरोसा रखते हुए अपने जीवन की घटनाओं का हिसाब नहीं करते हैं। यह प्रेरिताई का रहस्य है जो हमें अपने को पूरी तरह से समर्पित करने हेतु मदद करता है। हम इस रहस्य को अपने में नवीन बनाने हेतु बुलाये गये हैं क्योंकि यह दुनिया के आकर्षण के मध्य सदैव हमारे लिए अद्वितीय शक्ति का स्रोत बनती है। संत पौलुस कहते हैं, “मसीह का प्रेम हमें प्रेरित करता है।” (2 कुरि.5.14)

मरियम प्रेरिताई का आर्दश

हमारी प्रेरिताई कार्य में मरियम हमारी शिक्षिका है। येसु के जन्म संदेश उपरांत वे तुरन्त अपनी कुटुबिनी ऐलिजबेथ की सेवा हेतु निकल पड़ती हैं। इस भांति वे येसु को इस्रराएल और विश्व के सामने लेकर आती हैं। मरियम येसु और पवित्र आत्मा से परिपूर्ण हैं अतः वह सेवा कार्य हेतु पहल करती हैं। हम भी अपने कार्यों को पवित्र आत्मा से प्रेरित हो कर करने हेतु जाते हैं। यह पुनरूजीवित येसु ख्रीस्त हैं जो हमें अपना देश, अपने मित्रों और अपनी संस्कृति का परित्याग करते हुए दूसरों की सेवा हेतु आगे ले चलते हैं।

ईश्वर के प्रेम से प्रेरित हों

आप के प्रेरितिक कार्य ईश्वर के प्रेम से प्रेरित और उसके राज्य की स्थापना से उत्प्रेरित है जिसके अनुरूप आप अपने कार्यों में अपनी बुलाहट का साक्ष्य देते हैं। दुनिया की वर्तमान परिस्थिति में, अपने में ईश्वर से प्रेरित होने की घोषणा करना मुझे हर्षित करता है।

संत पापा ने कहा कि आप अपने भेजे जाने में लोगों को येसु ख्रीस्त का ज्ञान दें कि वे कौन हैं। आप इस बात की भी याद करें कि प्रेरिताई का कार्य अकेले का नहीं वरन समुदाय का है जिसे हम एक दूसरे संग साझा करते हैं।

आप अपने कार्यों के द्वारा हम इस बात का भी साक्ष्य देते हैं कि कलीसिया की प्रेरिताई एक तरफा नहीं है वरन आपसी बांटवारे की विषयवस्तु है जिसे हमें एक मूल्य के रुप में धारण करना है। आज हम दुनिया के भिन्न स्थानों में बुलाहट को देखते हैं जहाँ एक समय केवल प्रेरित हुआ करते थे। हम ईश्वर के प्रति कृतज्ञता के भाव प्रकट करते हैं क्योंकि उन्हें द्वारा बोया गया बीच कलीसिया और हमारे संस्थानों के लिए चुनौती का कारण बनती है। इसे हमें पवित्र आत्मा के सानिध्य में भयविहीन ग्रहण करने की जरुरत है जो विभिन्नताओं में एकता स्थापित करते हैं।

संत पापा ने कहा कि हम अपने को येसु ख्रीस्त के साथ संयुक्त करें जो हमें कभी उदास, निराश और थकान की अनुभूति होने नहीं देते हैं। सुसमाचार प्रचार हेतु प्रेरित को पुनर्जीवित येसु की खुशी को अपने में धारण करने की जरुरत है इसके बिना प्रेरितिक कार्य आकर्षक नहीं होते हैं। इसका साक्ष्य हम अपनी वार्ता, प्रेमपूर्ण कार्य, दूसरों को स्वीकारने और अपने जीवन को साझा करने में देते हैं। “येसु खीस्त हमें अपनी ओर आकर्षित करते हैं” यह खुशी के रुप में हमारे हृदयों में वास करती है, जो  हमारे हाव-भाव, शब्दों और दूसरों के साथ संबंध स्थापित करने में झलकती है। आप अपनी असुविधाओं की स्थिति में भी येसु ख्रीस्त का साक्ष्य देने में भयभीत न हों। वे हममें उसे बीज की तरह प्रस्फुटित करते जो जीवनदायी वृक्ष के रुप धारण कर लोगों को छाया प्रदान करती है।

प्रेरिताई सबों का कार्य

संत पापा ने कहा कि इतालवी कलीसिया को भी आपके साक्ष्य, उत्साह और साहस की जरुरत है जिससे सुसमाचार प्रचार हेतु नई राह निकल सके। यह अपने में इस बात को अनुभव करें कि दूर के लोग उसके निकट आ गये हैं। हमें अपनी ओर से उसके साथ मित्रता, निकटता और सेवा हेतु अपने को नवीन करने का जरूरत है। यह हम सभों का कार्य है चाहें हम पुरोहित, धर्मसमाजी, समर्पित और लोकधर्मी ही क्यों न हों। 2019 के अक्टूबर महीना में अतिविशिष्ट प्रेरिताई की विषयवस्तु “बपतिस्मा प्राप्त प्रेषित” है जो कलीसिया को इसी प्रेरितिक तथ्य की याद दिलाने हेतु चुना गया है।

30 September 2019, 16:39