Cerca

Vatican News
मानव भ्रातृत्व के दस्तावेज पर कार्य करने हेतु गठित उच्च समिति के सदस्यों से मुलाकात करते संत पापा मानव भ्रातृत्व के दस्तावेज पर कार्य करने हेतु गठित उच्च समिति के सदस्यों से मुलाकात करते संत पापा  (ANSA)

मानव भ्रातृत्व पर दस्तावेज को लागू करने वाली समिति की सभा

संत पापा फ्राँसिस ने मानव भ्रातृत्व के दस्तावेज पर कार्य करने हेतु गठित उच्च समिति के सदस्यों से मुलाकात की। समिति की पहली सभा बुधवार को सम्पन्न हुई।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 12 सितम्बर 2019 (रेई)˸ न्यूयॉर्क में ट्वीन टावर पर हमले के 18 वर्षों बाद 7 सदस्यों वाली एक समिति का गठन किया गया है जिसका उद्देश्य है विश्व शांति एवं सहअस्तित्व के लिए मानव भ्रातृत्व के दस्तावेज के उद्देश्यों को लागू करना।

संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार को सुबह 8.30 बजे वाटिकन के प्रेरितिक आवास संत मर्था में मुलाकात की।

वाटिकन प्रेस कार्यालय ने सभा पर एक वक्तव्य जारी कर कहा कि "सभा का दिन, जीवन और भ्रातृत्व का निर्माण करने की इच्छा के चिन्ह स्वरूप 11 सितम्बर को चुना गया था।" संत पापा ने समिति के प्रत्येक सदस्य से भेंट की। संत पापा ने उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त की तथा उन्हें भाईचारा का निर्माण करने हेतु प्रोत्साहन दिया। उनकी आशा है कि वे नीतियों की पहल सच्चे रूप में करेंगे न कि केवल प्रतिनिधित्व मात्र। वे अपना हाथ बढ़ायेंगे किन्तु हृदय भी खोल पायेंगे।  

समिति के सदस्य

समिति में परमधर्मपीठ का प्रतिनिधित्व अंतरधार्मिक वार्ता हेतु गठित परमधर्मपीठीय समिति के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मिगवेल एंजेल अयूसो क्वीक्सोत एमसीसीजे तथा संत पापा के निजी सचिव मोनसिन्योर योअनिस लाहजी गाईड कर रहे हैं। एल अजहर विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. मोहमद हुसैन अबदेलाजीज हस्सन तथा मोहमद महमूद अबदेल सलाम एवं ग्रैंड इमाम के न्यायाधीश और पूर्व सलाहकार एल तायिब कर रहे हैं। संयुक्त अरब अमीरात का प्रतिनिधित्व मोहमद खालिफा एल मुबाराक जो अबू धाबी में संस्कृति एवं पर्यटन के अध्यक्ष हैं, लेखक एवं पत्रकार यस्सार साईद अब्दूल्ला हारेब अलमुहारी तथा मुस्लिम वयोवृद्धों के महासचिव सुल्तान फैसल एल खलिफा अलरेमेइथ कर रहे हैं।  

कार्य की शुरूआत

कार्य की शुरूआत समिति में कार्य विभाजन से हुई जिसमें धर्माध्यक्ष अयूसो को समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया, मोहमद महमूद अबदेल सलाम को सचिव तथा मोनसिन्योर योअनिस लाहजी गाईड, यस्सेर साईद अबदूल्ला हारेब अलमूहारी एवं सुलतान फैसल एल खलिफा एलरेमेइथ को कार्यकारी कार्यालय का सदस्य नियुक्त किया गया। उसके बाद वे विधि की ओर आगे बढ़े जो उनकी समिति की गतिविधियों को नियंत्रित करेगी।

ठोस कदम

समिति ने अपनी गतिविधियों की शुरूआत करने के लिए कई ठोस प्रयासों को प्रस्तुत किया। संयुक्त राष्ट्र के सामने एक प्रस्ताव रखा गया कि 3 से 5 फरवरी के बीच  मानव भ्रातृत्व दिवस घोषित किया जाए। दूसरा प्रस्ताव विश्व के विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधियों को निमंत्रण देने का रखा गया कि वे भी समिति में भाग लें।

अगली सभा

20 सितम्बर को अगली सभा की तिथि निर्धारित की गयी है जिसका स्थान न्यूयॉर्क होगा।

भूमिका

विश्व शांति एवं सह-अस्तित्व के लिए मानव भ्रातृत्व के दस्तावेज पर हस्ताक्षर संत पापा फ्राँसिस एवं अल अजहर के ग्रैंड इमाम ने अबू धाबी में मानव भ्रातृत्व पर 4 फरवरी 2019 को एक वैश्विक सम्मेलन के दौरान की थी। 19 अगस्त को संयुक्त अरब अमीरात ने दस्तावेज को लागू करने हेतु एक समिति का गठन किया। संत पापा फ्राँसिस इस पहल से अत्यन्त खुश हैं। उन्होंने इसे कहा कि यह "अच्छाई का छिपा सागर है जो बढ़ रहा है" और जो भाईचारा एवं शांति की दुनिया को सम्भव बना रहा है।"

12 September 2019, 17:03