Cerca

Vatican News
मडागास्कर में मैत्री के शहर अकामासोवा के लोगों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस मडागास्कर में मैत्री के शहर अकामासोवा के लोगों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस   (ANSA)

मैत्री शहर के अकामासोवा समुदाय से संत पापा की मुलाकात

मडागास्कर की प्रेरितिक यात्रा के दूसरे दिन रविवार 8 सितम्बर को संत पापा फ्राँसिस ने अंतानानारिवो में मैत्री शहर के अकामासोवा समुदाय से मुलाकात की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

उन्हें सम्बोधित कर संत पापा ने कहा, "प्रिय मित्रो, यह मेरे लिए बड़े हर्ष की बात है कि मैं बड़े उत्साह में आप लोगों के साथ हूँ। अकामासोवा अपने लोगों के बीच ईश्वर की उपस्थिति की अभिव्यक्ति है जो गरीब हैं। यह उस ईश्वर की उपस्थिति है जिन्होंने अपने लोगों के बीच हमेशा रहने के लिए चुना है।"

आशा का संगीत

आप इस संध्या बेला में, मैत्री के इस शहर में बड़ी संख्या में आये हैं जिसका निर्माण आपने अपने हाथों से किया है। मुझे बिल्कुल संदेह नहीं है कि आप इसका निर्माण करना जारी रखेंगे ताकि अनेक परिवार सम्मान के साथ जी सकें। आपके प्रसन्नचित चेहरे को देखकर, मैं प्रभु को धन्यवाद देता हूँ जिन्होंने गरीबों की रूदन सुनी तथा इस गाँव के निर्माण के रूप में अपने प्रेम के ठोस चिन्हों को प्रकट किया। मदद के लिए आपकी गुहार जो आपके आवासहीन होने, बच्चों के कुपोषित होने, बेरोजगारी और उदासीनता के कारण तिरस्कृत होने के कारण उठी, यह आपके लिए तथा आपको देखने वालों के लिए आशा का संगीत बन गया। आपका पड़ोस, स्कूल या दवाखाना एक आशा का संगीत है जो उन सभी सुझावों का खंडन करता है जो कहते हैं कि चीजें असंभव हैं। संत पापा ने कहा, "आइये हम जोर से कहें, गरीबी अपरिहार्य नहीं है।"

एक जीवित विश्वास

वास्तव में, यह गाँव साहस एवं आपसी सहयोग के लम्बे इतिहास को प्रतिबिम्बित करता है। यह शहर कई सालों के अथक परिश्रम का फल है। इसकी नींव पर हम एक जीवित विश्वास को पाते हैं जो ठोस कार्य में प्रकट होता तथा पहाड़ को भी हटा सकता है। यह एक ऐसा विश्वास है जिसने असुरक्षा के स्थान पर अवसर को देखना, अपरिहार्यता के स्थान पर आशा को देखना, जहाँ सिर्फ मृत्यु और विनाश की बात होती है वहाँ जीवन को देखना संभव बनाया। हम संत याकूब के कथन की याद करें, "कर्मों के अभाव में विश्वास पूर्ण रूप से निर्जीव होता है। (याकूब. 2:17) जिसने दल में काम करने, परिवार एवं समुदाय की भावना में धीरज एवं कुशलता के साथ पुनः निर्माण करने का बल प्रदान किया है। आपकी दृढ़ता केवल अपने आप में नहीं है बल्कि एक-दूसरे में है। इसने आपको इस उत्साह को आकार देने का बीड़ा उठाने का मौका दिया है।

यह उन पहले परिवारों द्वारा सौंपे गए मूल्यों की सीख है, जिन्होंने फादर ओपेका के साथ जोखिम उठाया, यह कठिन काम करने, अनुशासन, ईमानदारी, आत्म-सम्मान और दूसरों के प्रति सम्मान के मूल्यों की शिक्षा है। आप समझ गये हैं कि ईश्वर की योजना न केवल हमारे व्यक्तिगत विकास के लिए है बल्कि खासकर, समुदाय के विकास के लिए है क्योंकि जैसा कि फादर पेद्रो ने याद दिलायी है कि अपने आप में बंद रहने के समान गुलामी कोई दूसरी गुलामी नहीं है।

गरीबी के हानिकारक प्रभाव से लड़ना कभी न छोड़ें

युवाओं को सम्बोधित करते हुए संत पापा ने कहा, "अकामासोवा के प्रिय युवाओं, मैं आपको एक खास बात कहना चाहता हूँ। गरीबी के हानिकारक प्रभाव से लड़ना कभी न छोड़ें। आसान जिंदगी के प्रलोभन में न पड़ें।"

प्रिय युवाओं, यह महान कार्य जिसको आपके अग्रजों ने किया, इसे आपको आगे बढ़ाना है। आप अपने विश्वास में तथा अपने बड़ों के उदाहरणों में इसे पूरा करने की शक्ति प्राप्त करेंगे। प्रभु ने जो वरदान दिये हैं उसे अपने बीच बढ़ने दें। भाई-बहनों की सेवा के लिए उदार बनने हेतु उनसे सहायता की याचना करें।

ईश्वर के प्रेम का साक्ष्य देना जारी रखें

इस तरह अकामासोवा न केवल आने वाली पीढ़ी के लिए महज एक उदाहरण बनेगा बल्कि उससे भी बढ़कर, ईश्वर से प्रेरित होकर कार्य करने हेतु प्रस्थान बिन्दु बनेगा जो अपनी पूर्णता को प्राप्त करेगा, यदि आप उनके प्रेम को वर्तमान एवं भविष्य में भी प्रकट करना जारी रखेंगे। आइये, हम प्रार्थना करें कि मडागास्कर एवं विश्व के सभी हिस्सों में प्रकाश की यह किरण फैले ताकि हम उस विकास के आदर्श बन सकें जो भरोसा, शिक्षा, कड़ी मेहनत और समर्पण के आधार पर गरीबी और सामाजिक बहिष्कार से लड़ने का समर्थन करता है क्योंकि यह मानव व्यक्ति की प्रतिष्ठा के लिए हमेशा आवश्यक हैं।  

संत पापा ने अंत में कहा, "अकामासोवा के प्रिय मित्रो, प्रिय फादर पेद्रो एवं उनके सहकर्मियो, नबी की तरह आशा का साक्ष्य देने के लिए पुनः एक बार धन्यवाद। ईश्वर आपको आशीर्वाद देता रहे। कृपया मेरे लिए प्रार्थना करना न भूलें।"  

Photogallery

संत पापा फ्राँसिस ने अंतानानारिवो में मैत्री शहर के अकामासोवा समुदाय से मुलाकात की जिसका निर्माण फादर पेद्रो ने किया है।
08 September 2019, 15:48