खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस 

इंडोनेशिया के राष्ट्रीय मिशन कांग्रेस को संत पापा का संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने इंडोनेशिया के राष्ट्रीय मिशनरी कांग्रेस में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को एक वीडियो संदेश दिया और कहा कि जब हम बपतिस्मा प्राप्त करते हैं, तब हम पवित्र आत्मा को ग्रहण करते हैं जो एक निधि है। इसके द्वारा हम येसु के संदेश को अपने अंदर ग्रहण करते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 1 अगस्त 2019 (रेई)˸ संत पापा फ्राँसिस ने जकार्ता में 1 से 4 अगस्त तक आयोजित इंडोनेशिया के राष्ट्रीय मिशनरी कॉन्ग्रेस में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को एक वीडियो संदेश दिया। कॉन्ग्रेस की विषयवस्तु है "बपतिस्मा प्राप्त और प्रेषित।"

1 अगस्त को दिये संदेश में संत पापा ने कॉन्ग्रेस की विषयवस्तु पर प्रकाश डालते हुए कहा, "आप सभी जो इस राष्ट्रीय मिशनरी कॉन्ग्रेस में भाग ले रहे हैं ˸ "बपतिस्मा प्राप्त और प्रेषित" विषयवस्तु पर गंभीरता से चिंतन करें। जब हम बपतिस्मा प्राप्त करते हैं, तब हम पवित्र आत्मा को ग्रहण करते हैं जो एक निधि है, हम येसु के संदेश को अपने अंदर ग्रहण करते हैं।"

संत पापा ने कहा कि यदि किसी के पास सुन्दर वस्तु होती है जो वह उत्साहित होता तथा उसे दूसरों के बीच बांटने के लिए प्रेरित होता है।

संत पापा ने कॉन्ग्रेस के प्रतिभागियों को चिंतन करने हेतु प्रेरित करते हुए कहा, "मैं अपने बपतिस्मा को किस तरह जीता हूँ? मैं अपने व्यक्तिगत जीवन में और समाज में किस तरह खमीर बनता हूँ ताकि येसु के संदेश को आगे ले सकूँ?

उन्होंने सलाह दी कि हम अपने बपतिस्मा एवं भेजे जाने को कभी न भूलें। बाईबिल का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि एक ख्रीस्तीय हमेशा आगे चलता है न कि पीछे लौटता। वह चलता रहता है, यही है भेजा जाना। पवित्र आत्मा ही हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है।

संत पापा ने सभी प्रतिभागियों को साहस पूर्वक आगे बढ़ते रहने हेतु प्रोत्साहन दिया और कहा कि इसके लिए माता मरियम से प्रार्थना करें जो हमें आगे बढ़ने में मदद देती हैं।  

संत पापा ने अपने वीडियो संदेश में सभी से प्रार्थना का आग्रह करते हुए अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया।

संत पापा का विडीयो संदेश
01 August 2019, 16:02