खोज

Vatican News
आमदर्शन समारोह में लोगों का अभिवादन करते संत पापा फ्राँसिस आमदर्शन समारोह में लोगों का अभिवादन करते संत पापा फ्राँसिस 

विश्व युद्ध शुरू होने की 80वीं वर्षगाँठ पर प्रार्थना का आह्वान

संत पापा फ्राँसिस ने द्वितीय विश्व युद्ध शुरू होने की 80वीं वर्षगाँठ के पूर्व प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया तथा कहा कि यह युद्ध की भयावहता पर चिंतन करने का अवसर है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

द्वितीय विश्व युद्ध की शुरूआत 1 सितम्बर 1939 को हुई थी। रविवार को द्वितीय विश्व युद्ध की 80वीं वर्षगाँठ होगी।  

1 सितम्बर 1939 को जर्मनी ने पोलैंड पर हमला किया था, जिसके कारण दो दिन बाद ब्रिटेन और फ्रांस ने एडोल्फ हिटलर के नाजी राज्य पर युद्ध की घोषणा की थी।

घृणा पर शांति की विजय

संत पापा फ्राँसिस ने बुधवारीय आमदर्शन समारोह के दौरान कहा, "हम सभी शांति के लिए प्रार्थना करें ताकि घृणा का त्रासदीपूर्ण श्रृंखला जिसने केवल विनाश, पीड़ा एवं मृत्यु लाई, उसे कभी न दुहराया जाए।"

संत पापा ने सभी को निमंत्रण दिया कि शांति सभी के हृदयों एवं परिवारों, समाजों तथा सभी लोगों के बीच राज करे।

संत पापा ने ये बातें पोलैंड के विश्वासियों को सम्बोधित करते हुए कही।

80वीं वर्षगाँठ

वरसाव में 80वीं वर्षगाँठ मनाने हेतु यूरोपीय संघ और नाटो के सदस्यों के साथ कई बड़े नेता उपस्थित होंगे। अमरीका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प भी इस समारोह में भाग लेंगे।  

जर्मनी और पोलैंड के राष्ट्रपति वेएलुन में द्वितीय विश्व युद्ध शुरू होने की याद करेंगे जो पोलैंड का पहला शहर है जिसपर नाजी जर्मनी द्वारा बमबारी की गयी थी। 1 सितम्बर को ही बाद में वे वरसाव के पिल्सुड्सकी प्रांगण में जमा होंगे जहाँ अज्ञात सैनिकों की कब्रों के पास 80वीं वर्षगाँठ मनायी जायेगी।

28 August 2019, 16:50