खोज

Vatican News
परागुवे के युवा संत पापा से मुलाकात करते हुए परागुवे के युवा संत पापा से मुलाकात करते हुए 

पोप ने परागुवे के युवाओं को सुसमाचार फैलाने का निमंत्रण दिया

संत पापा फ्राँसिस ने एक संदेश भेजकर पराग्वे के युवाओं का आह्वन किया कि वे येसु ख्रीस्त का स्वागत करें तथा मिशनरी शिष्य बनें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 27 अगस्त 2019 (रेई)˸ युवाओं को समर्पित 3 साल की पहल के समापन पर परागुवे के युवाओं को संत पापा फ्राँसिस ने एक संदेश भेजा।

परागुवे के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन द्वारा आयोजित त्रेन्नियुम का समापन राजधानी असुनसोन में एक मंच के आयोजन के साथ हुआ जिसमें करीब 600 युवाओं ने भाग लिया।

बुलाहट

प्रतिभागियों को सम्बोधित संदेश में संत पापा ने युवा, विश्वास एवं बुलाहटीय आत्मपरिक्षण की विषयवस्तु पर चिंतन किया।

संत पापा ने पराग्वे के युवों को प्रोत्साहन देते हुए कहा, "कृपा के फल के रूप में इस समय आपने विश्वास की केन्द्रीयता पर चिंतन किया ताकि ख्रीस्त को स्वीकार कर  सकें जिन्होंने आपको अपना मित्र कहा है ताकि आप उनके प्रेम में बने रहें और अधिक फल उत्पन्न करें।  

संत पापा ने युवाओं से आग्रह किया कि वे प्रभु की आवाज सुनें। प्रभु उन्हें व्यक्तिगत एवं सामुदायिक रूपों में मुक्ति के सुसमाचार का साक्ष्य गरीब भाई बहनों के बीच सुनाने के लिए भेज रहे हैं।

माता मरियम की सुरक्षा में

संत पापा ने अपने संदेश के अंत में परागुवे के युवाओं को निमंत्रण दिया कि वे उनके (संत पापा) लिए प्रार्थना करें। उन्होंने उन्हें काकूपे की माता मरियम को समर्पित किया।  

संत पापा का संदेश जिसपर वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन का हस्ताक्षर था उसे रविवार को मंच के समापन ख्रीस्तयाग के दौरान पढ़ कर सुनाया गया।

जरूरतमंद लोगों के लिए सुसमाचार

मंच जो युवाओं पर त्रिएन्नुम के साथ समाप्त हुआ परागुवे के सभी हिस्सों से प्रतिभागी आये हुए थे।

तीन दिवसीय चिंतन में उन्हें दिखलाया गया कि वे अपने समय के लिए कलीसिया की खुली बाहों के रूप में किस तरह काम कर सकते हैं। उन्हें दलों में विचार-विमार्श करने का अवसर दिया गया, जिसमें उन्होंने परिवार, राजनीति, महिला, खेल, बुरी आदतों और पर्यवरण विषयों पर बहस किया।  

मंच का उद्देश्य था, युवाओं को प्रेरित करना, मजबूत करना एवं सामाजिक क्रिया-कलापों को सुदृढ़ करना।

संत पापा के प्रोत्साहन भरे शब्दों के साथ परागुवे के युवाओं को मिशन हेतु भेजा गया कि वे अपने भाई-बहनों के बीच सुसमाचार का प्रचार करें।

27 August 2019, 17:05