खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (ANSA)

21 और 22 जुलाई का संत पापा का ट्वीट संदेश

संत पापा ने ट्वीट कर सभी ख्रीस्तियों को मरथा और मरियम के कार्यों को संयोजित करने के लिए प्रेरित किया।

मार्ग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 22 जुलाई, 2019 (वाटिकन न्यूज, रेई) : दूसरों की सेवा में अपना समय देना और अपने आध्यत्मिक जीवन के लिए समय देना, दोनों ही जरुरी है। काथलिक कलीसिया के पंचाग अनुसार 21 जुलाई, वर्ष के 16वें रविवार के सुसमाचार पाठ (लूकस 10,38-42) में मरथा और मरियम दो बहनों के घर में येसु का आगमन और उनकी सुश्रुषा का जिक्र किया गया है। संत पापा ने ट्वीट कर सभी ख्रीस्तियों को मरथा और मरियम के कार्यों को संयोजित करने के लिए प्रेरित किया।

संत पापा ने संदेश में लिखा, “आज का सुसमाचार हमें याद दिलाता है कि हृदय का विवेक मनन-ध्यान और क्रिया को संयोजित करने के तरीके को जानने में निहित है। आइए, हम ईश्वर से मरथा के सेवा कार्य और मरियम का तरह हृदय से हमारे भाइयों और बहनों को प्यार करने की कृपा मांगें।”

22 जुलाई की ट्वीट

22 जुलाई को काथलिक कलीसिया मरियम मगदलेना का नाम दिवस मनाती है। ये वही मरियम मगदलेना हैं जिनसे येसु ने सात अपदूतों को निकाला था (लूक. 8,2),जिसने क्रूस के नीचे येसु को मरते घड़ी तक साथ दिया और उनके दुःख में सहभागी हुई (मरकुस 15,40) और विश्राम दिवस के बाद, पहले दिन पौ फटते ही दूसरी मरियम के साथ येसु का कब्र देखने आयी। जीवित प्रभु उन्हें वहाँ दिखाई दिये। येसु के प्रति उनका प्रेम हम सभी के लिए एक आदर्श है।

इस दिन संत पापा ने ट्वीट में लिखा,“जीवित येसु के साथ मुलाकात करके ही उसके साक्षी बन सकते हैं। संत मरियम मगदलेना आशा की प्रेरित, हमारे लिए प्रार्थना कीजिए।”

22 July 2019, 15:26