खोज

Vatican News
फ्राँस के न्यायधीश, आतंकवाद के खिलाफ फ्राँस के न्यायधीश, आतंकवाद के खिलाफ  (AFP or licensors)

संत पापा ने की न्यायकर्ताओं के लिए प्रार्थना का आह्वान

संत पापा फ्राँसिस ने जुलाई माह के लिए प्रार्थना की प्रेरिताई में, विश्व में न्याय हेतु कार्य करने वालों के लिए प्रार्थना करने का आह्वान किया है ताकि अन्याय अंतिम शब्द न बन जाए।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 4 जुलाई 2019 (रेई)˸ जुलाई माह के लिए प्रेषित वीडियो संदेश में संत पापा ने काथलिकों का आह्वान किया है कि वे मजिस्ट्रेटों, न्यायाधीशों और वकीलों के लिए प्रार्थना करें जो विश्व में  न्याय की रक्षा करते हैं, ताकि उनका कार्य सही मकसद एवं अभिन्न मापदंडों से प्रेरित हो।

संत पापा ने इस बात पर जोर दिया है कि न्याय का कार्य हमेशा मानव की सेवा के लिए हो और सदा उसकी प्रतिष्ठा की रक्षा करे। उन्होंने इस बात की ओर भी प्रेरित किया है कि वे येसु के आदर्शों का अनुपालन करें, जिन्होंने न्याय का सौदा कभी नहीं किया। न्याय के लिए भ्रष्टाचार की घातक घटनाएँ उन लोगों एवं राष्ट्रों के लिए बाधक हैं जो शांति और समृद्धि के साथ जीना चाहते हैं। संत पापा इस बात से चिंतित हैं कि न्याय में भ्रष्टाचार समाज के ताने-बाने में दरार उत्पन्न करती है।

संयुक्ट राष्ट्र द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ हुई सभा (न्यूयॉर्क, 2004) के अनुसार, न्याय की पवित्रता, भ्रष्टाचार के शिकारों में से एक है। साथ ही न्याय के लिए भ्रष्टाचार का प्रभाव उन लोगों पर ज्यादा पड़ता है जो सबसे गरीब हैं क्योंकि यह असमानता फैलाता है। जब सामाजिक वातावरण गरीबी, भूख एवं पीड़ा से प्रभावित हो तब न्यायकर्ताओं का परमावश्यक कर्तव्य हो जाता है कि वे न्याय की रक्षा करें और उसे सुदृढ़ करें। केवल न्याय के मौलिक मूल्यों के द्वारा की सार्वजनिक जीवन को सुचारू रूप से जारी रखा जा सकता है।  

संत पापा के लिए न्याय केवल मुकदमा अथवा पार्टी में पहन कर जाने वाली पोषाक नहीं है। अतः जुलाई माह में इसके लिए विशेष प्रार्थना करना है ताकि जो लोग न्याय व्यवस्था बनाये रखने के लिए जिम्मेदार हैं वे अपने कर्तव्यों को, सत्यनिष्ठा के साथ, बिना व्यक्तिगत स्वार्थ को ध्यान दिये अथवा मामले को छिपाये, पारदर्शिता और निष्पक्षता के ढांचे पर निभा सकें।

04 July 2019, 16:26