खोज

Vatican News
रूमानियाई यात्रा के दौरान ऑरथोडोक्स प्राधिधर्माध्यक्ष डेनियल के साथ, 02.06.2019 रूमानियाई यात्रा के दौरान ऑरथोडोक्स प्राधिधर्माध्यक्ष डेनियल के साथ, 02.06.2019  (ANSA)

कुस्तुनतुनियाई प्राधिधर्माध्यक्षीय प्रतिनिधिमण्डल का स्वागत

तुर्की के इस्तामबुल से सन्त पेत्रुस एवं सन्त पौलुस महापर्व के उपलक्ष्य में रोम आये कुस्तुनतुनियाई प्राधिधर्माध्यक्षीय प्रतिनिधिमण्डल का सन्त पापा फ्राँसिस ने शुक्रवार को वाटिकन में हार्दिक स्वागत किया।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 28 जून 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): तुर्की के इस्तामबुल से सन्त पेत्रुस एवं सन्त पौलुस महापर्व के उपलक्ष्य में रोम आये कुस्तुनतुनियाई प्राधिधर्माध्यक्षीय प्रतिनिधिमण्डल का सन्त पापा फ्राँसिस ने शुक्रवार को वाटिकन में हार्दिक स्वागत किया।

सन्त पापा ने कहा कि कुस्तुनतुनियाई प्राधिधर्माध्यक्षीय प्रतिनिधिमण्डल की उपस्थिति रोम तथा कुस्तुनतुनिया की कलीसियाओं के बीच विद्यमान मज़बूत सम्बन्धों की प्रकाशना करती है। साथ ही यह, प्रभु येसु ख्रीस्त की इच्छा के प्रति आज्ञाकारिता के अनुकूल, हमारे द्वारा प्रतीक्षित पूर्ण सहभागिता की दिशा में हमारी तीर्थयात्रा हेतु हमारे प्रयासों को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि सन्त पेत्रुस और सन्त पौलुस का महापर्व हम सबको उदारता के लिये आमंत्रित करता है जो एकता की ओर हमें अग्रसर करती है।

चुनौतियों के प्रति विश्वासियों का कार्य

पर्यावरण सम्बन्धी संकट के प्रति दोनों कलीसियाओं की कुण्ठा का व्यक्त करते हुए सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा, “हमारे सामान्य धाम की सुरक्षा को प्रोत्साहन देना केवल हम विश्वासियों के लिये ही नहीं अपितु समस्त व्यक्तियों के लिये ज़रूरी है तथा यह सुसमाचार की भावना में पड़ोसी की सेवा का कृत्य है।” वर्तमान युग की अन्य चुनौतियों में उन्होंने सभी प्रकार की दासताओं से मुक्ति, आप्रवासियों, शरणार्थियों एवं विस्थापितों को आतिथ्य प्रदान करने की आवश्यकता तथा विभिन्न स्तरों पर शांति को बढ़ावा देने पर बल दिया।

विशिष्ट अस्मिताओं का सम्मान ज़रूरी

बुलगारिया तथा रोमानिया में अपनी प्रेरितिक यात्राओं के दौरान ऑरथोडोक्स कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष नेओतिफ एवं प्राधिधर्माध्यक्ष डेनियल तथा अन्य अवसरों पर ऑरथोडोक्स कलीसिया के प्रधान प्राधिधर्माध्यक्ष बारथोलोम के साथ अपनी मुलाकातों को सन्त पापा ने याद किया और कहा कि इन मुलाकातों में उन्हें ऑरथोडोक्स कलीसिया में विद्यमान वैभव की सराहना का मौका मिला है।

सन्त पापा ने कहा, “मेरा पूरा विश्वास है कि काथलिकों एवं ऑरथोडोक्स ख्रीस्तीयों के बीच पूर्ण एकता हमारी विशिष्ट अस्मिताओं के प्रति सम्मान और विविधता के वैध रूपों में सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व से सम्भव हो सकेगी।”

28 June 2019, 11:45