खोज

Vatican News
धन्य कार्मेन लाकाबा अंदिया एवं उनकी 13 साथी धर्मबहनें धन्य कार्मेन लाकाबा अंदिया एवं उनकी 13 साथी धर्मबहनें 

धर्मबहनों ने बुद्धिमान कुँवारियों की तरह दुल्हे का इंतजार किया

संत पापा फ्राँसिस ने 23 जून को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में देवदूत प्रार्थना का पाठ किया जिसके उपरांत उन्होंने मडरिड के नये धन्यों की याद की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 24 जून 2019 (रेई)˸ उनके साहस की सराहना करते हुए उन्होंने कहा, "कल मडरिड में धन्य कार्मेन लाकाबा अंदिया एवं उनकी 13 साथी धर्मबहनों की धन्य घोषणा की गयी जो निष्कलंक गर्भागमन के फ्राँसिसकन ऑर्डर की धर्मबहनें थीं। वे 1936-1939 में धर्म के लिए अत्याचार के दौरान विश्वास के कारण शहीद हो गयीं थीं। ये मठवासी धर्मबहनों ने बुद्धिमान कुँवारियों की तरह साहसिक विश्वास के साथ अपने दिव्य दुल्हे का इंतजार किया। उनकी शहादत हम सभी को निमंत्रण देता है कि हम दृढ़ एवं धैर्यशील बनें, खासकर, परीक्षाओं की घड़ी।" तब संत पापा ने ताली बजाकर इन नये धन्यों को सम्मानित किया।

इसके बाद संत पापा ने सभी तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों का अभिवादन किया खासकर, उन्होंने ब्राजील, अमरीका एवं नामूर की माता मरियम की धर्मबहनों का अभिवादन किया।

अंत में, उन्होंने प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएँ अर्पित की।

24 June 2019, 14:03