खोज

Vatican News
राहत कर्मी दुर्घटना के बाद खनन कर्मियों को निकालते हुए, म्नयानमार राहत कर्मी दुर्घटना के बाद खनन कर्मियों को निकालते हुए, म्नयानमार  (AFP or licensors)

"खनन और जनकल्याण" बैठक के प्रतिभागियों से संत पापा की भेंट

वाटिकन में खनन एवं जनकल्याण विषय पर आयोजित बैठक के प्रतिभागियों को सम्बोधित कर शुक्रवार 03 मई को सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा कि धरती और उसके संसाधनों की सुरक्षा को सुनिश्चित्त करने के लिये आपसी वार्ताओं की नितान्त आवश्यकता है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 3 मई 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो) वाटिकन में खनन एवं जनकल्याण विषय पर आयोजित बैठक के प्रतिभागियों को सम्बोधित कर शुक्रवार 03 मई को सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा कि धरती और उसके संसाधनों की सुरक्षा को सुनिश्चित्त करने के लिये आपसी वार्ताओं की नितान्त आवश्यकता है।

वार्ताओं की नितान्त आवश्यकता

अपने विश्व पत्र लाओदातोसी को उद्धृत कर सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा कि उक्त पत्र में उन्होंने इस तथ्य को रेखांकित किया है कि हमें "अपने सामान्य धाम के प्रत्येक व्यक्ति के साथ सम्वाद की ज़रूरत है। प्रभावशाली ढंग से धरती की पुकार और लोगों की पुकार का प्रत्युत्तर देने के लिये वार्ताओं की नितान्त आवश्यकता है।"

सन्त पापा ने कहा कि वे अत्यन्त प्रसन्न हैं कि उक्त बैठक में खनन गतिविधियों से प्रभावित लोगों के प्रतिनिधि तथा खनन कम्पनियों के मालिकों के प्रतिनिधि एक साथ उपस्थित हैं। उन्होंने कहा कि एक साथ मिलकर ही समस्याओं को पहचाना जा सकेगा, उनपर खुलकर बातचीत का मौका मिलेगा और साथ ही ईमानदारी, साहस एवं भ्रातृत्व की भावना प्रोत्साहित हो सकेगी।

अनिश्चित स्थिति पतनशील आर्थिक मॉडल का परिणाम

सन्त पापा ने कहा, "हमारे सामान्य धाम की अनिश्चित स्थिति काफी हद तक एक पतनशील आर्थिक मॉडल का परिणाम है, जो बहुत लंबे समय से चला आ रहा है। यह एक विशाल मॉडल है, जो लाभ-उन्मुख, अदूरदर्शा, और असीमित आर्थिक विकास की ग़लत धारणा पर आधारित है। दुःख की बात तो यह है कि हालांकि हम प्रायः प्रकृति और लोगों के जीवन पर इसके विनाशकारी प्रभावों को देखते हैं, फिर भी परिवर्तन के लिए तैयार नहीं होते हैं।"

उन्होंने कहा हम सचेत हैं कि "मार्केट आर्थिक प्रणाली द्वारा ही मानव विकास और सामाजिक समावेशन की गारंटी नहीं दी जा सकती है और पर्यावरण संरक्षण केवल लागत और लाभ की वित्तीय गणना के आधार पर सुनिश्चित नहीं किया जा सकता है। हमें खनन सहित अपनी सभी आर्थिक गतिविधियों में एक बदलाव लाने की नितान्त आवश्यकता है।"

खनन गतिविधि के सन्दर्भ में सन्त पापा ने कहा कि सभी अन्य गतिविधियों के सदृश ही खनन क्रियाओं को भी मानव व्यक्ति के विकास तथा सम्पूर्ण मानव समुदाय की सेवा में होना चाहिये।

03 May 2019, 11:41