खोज

Vatican News
पेपल फाऊन्डेशन के सदस्यों के साथ सन्त पापा फ्राँसिस 10.05.2019 पेपल फाऊन्डेशन के सदस्यों के साथ सन्त पापा फ्राँसिस 10.05.2019  (Vatican Media)

परमाध्यक्षीय न्यास के सदस्यों से सन्त पापा फ्राँसिस

सन्त पापा फ्राँसिस ने, शुक्रवार को, विश्व के विभिन्न राष्ट्रों से रोम में एकत्र हुए परमधर्मपीठीय परमाध्यक्षीय न्यास के सदस्यों को सम्बोधित कर उनके उदार कार्यों के लिये हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 10 मई 2019 (रेई,वाटिकन रेडियो): सन्त पापा फ्राँसिस ने, शुक्रवार को, विश्व के विभिन्न राष्ट्रों से रोम में एकत्र हुए परमधर्मपीठीय परमाध्यक्षीय न्यास के सदस्यों को सम्बोधित कर उनके उदार कार्यों के लिये हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया।

पेपल फाऊन्डेशन का योगदान

सन्त पापा ने कहा कि जब से परमाध्यक्षीय न्यास की स्थापना हुई है तब से लेकर आज तक न्यास ने विश्व के विभिन्न राष्ट्रों में भ्रातृत्व एवं शांति की स्थापना में महान योगदान प्रदान किया है। उन्होंने कहा, "विभिन्न शैक्षिक, कल्याणकारी एवं प्रेरितिक परियोजनाओं को दिये गये आपके समर्थन के माध्यम से और साथ ही लोकधर्मी महिलाओं एवं पुरुषों को दी जानेवाली छात्रवृत्तियों द्वारा तथा पुरोहितों, गुरुकुल छात्रों एवं धर्मबहनों के प्रशिक्षण हेतु आर्थिक अनुदान प्रदान कर आपका न्यास मानव परिवार के अखण्ड विकास की दिशा में कलीसिया को महान योगदान दे रहा है।"    

सन्त पापा ने कहा, "हिंसा और संघर्ष, भौतिक और आध्यात्मिक निर्धनता तथा प्रायः उदासीनता से परिपूर्ण विश्व में आपके उदार कार्य, आशा और दया के सुसमाचारी सन्देश को, उन लोगों तक पहुँचाते हैं जो आपके समर्पण तथा आपकी उदारता से लाभान्वित होते हैं, और इसके लिये, मैं आपको शत् शत् धन्यावाद ज्ञापित करता हूँ। मैं प्रार्थना करता हूँ आप एकता में कलीसिया के विकास हेतु अपने नेक कार्यों को जारी रखेंगे तथा आपके कल्याणकारी कार्य निर्धन से निर्धनतम भाई बहनों तक पहुंच सकेंगे।"

न्यास की स्थापना  

सन्त पापा ने कहा, "परमाध्यक्षीय न्यास का मिशन एकात्मता की भावना में सन्त पेत्रुस के उत्तराधिकारी से जुड़ा है इसलिये मैं आप लोगों से आग्रह करता हूँ आप मेरे लिये, मेरी प्रेरिताई के लिये, कलीसिया की ज़रूरतों के लिये, सुसमाचर प्रचार के लिये तथा हृदयों के मन परिवर्तन के लिये भी प्रभु ईश्वर से विनती करें।"  

सन्त पापा जॉन पौल द्वितीय के आशीर्वाद से "पेपल फाऊन्डेशन" यानि  परमाध्यक्षीय न्यास की स्थापना सन् 1990 में हुई थी। तब से  फाउंडेशन ने गिरजाघरों के निर्माण, गुरुकलों में प्रशिक्षण, महाविद्यालयों एवं विद्यालयों के निर्माण एवं शैक्षिक योजनाओं को वित्तीय समर्थन देकर तथा निर्धनों, वयोवृद्धों और समाज के कमज़ोर वर्ग के लोगों के हित में लोकोपकारी योजनाओं को एक करोड़ 56 लाख अमरीकी डॉलर के अनुपात में आर्थिक मदद प्रदान की है।

10 May 2019, 11:09