Cerca

Vatican News
बरूईपुर का महागिरजाघर बरूईपुर का महागिरजाघर 

संत पापा ने बरूईपुर के सहायक धर्माध्यक्ष की नियुक्ति की

संत पापा फ्राँसिस ने 17 मई को फादर श्यामल बोस को पश्चिम बंगाल स्थित बरूईपुर का सहायक धर्माध्यक्ष नियुक्त किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

संत पापा फ्राँसिस ने उन्हें धर्माध्यक्ष साल्वादोर लोबो को प्रेरितिक एवं प्रशासनिक कार्यों में सहायता देने हेतु नियुक्त किया है।  

नवनियुक्त सहायक धर्माध्यक्ष का जन्म 24 मार्च 1961 को गोसाबा में हुआ था। उन्होंने झारखंड स्थित संत अल्बर्ट कॉलेज राँची से ईशशास्त्र की पढ़ाई की है। उनका पुरोहिताभिषेक 5 मई 1991 को बरूईपुर धर्मप्रांत के लिए हुआ था।

अभिषेक के बाद उन्होंने निम्नलिखित क्षेत्रों में अपनी सेवाएँ दीं।

∗ 1991-1994: केवरापुकर के संत अंतोनी गिरजाघर के सहायक पल्ली पुरोहित।

∗ 1994-1996: खारी के स्वर्गारोहन गिरजाघर के सहायक पल्ली पुरोहित।

∗ 1996-1998: खारी के स्वर्गारोहन गिरजाघर का पल्ली पुरोहित।

∗ 1998-2006: धर्मप्रांत के समाज सेवा केंद्र पल्ली उन्नायान समिति के निदेशक।

∗ 2000-2006: बरूईपुर धर्मप्रांत के विकर जेनेरल एवं चांसलर।

∗ 2006-2008: सेक्रेड हार्ट गिरजाघर, ठाकुरपुकुर के पल्ली पुरोहित।

∗ 2008-2010: बैंगलोर में लाईसेंसेट की पढ़ाई।

∗ 2010-2011: क्षेत्रीय सामाजिक केंद्र के निदेशक, विकास हेतु बंगाली संयोजक समिति के निदेशक

∗ 2012-2013: कुमरोखारी में लुर्द की माता मरियम गिरजाघर के सहायक पल्ली पुरोहित।

∗ 2013-2016: कुमरोखारी में लुर्द की माता मरियम गिरजाघर के पल्ली पुरोहित।

2016: से बरूईपुर धर्मप्रांत के खजांची एवं चांसलर।

बरूईपुर जो कलकत्ता महाधर्मप्रांत का हिस्सा है इसकी स्थापना 30 मई 1977 में हुई थी। इसके प्रथम धर्माध्यक्ष थे धर्माध्यक्ष लिनुस गोम्स। उनके सेवानिवृत हो जाने पर 1995 में साल्वादोर लोबो वहाँ के धर्माध्यक्ष बने।    

बरूईपुर धर्मप्रांत में कुल काथलिकों की संख्या 62,800 है जिसमें 100 पुरोहित, 115 धर्मबहनें, 22 पल्लियाँ और 54 शिक्षण संस्थाएँ हैं। धर्मप्रांत द्वारा 33 उदार संगठन एवं समाज सेवा केंद्र चलाये जाते हैं।  

18 May 2019, 16:36