खोज

Vatican News
बुल्गारियाई ऑर्थोडॉक्स गिरजाघर बुल्गारियाई ऑर्थोडॉक्स गिरजाघर  

बुल्गारिया में शांति एवं एकता का संदेश लाने वाले संत पापा

वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल ने बताया कि संत पापा फ्राँसिस अपनी 29 वीं प्रेरितिक यात्रा के लिए तैयार हैं, संत पापा 5 से 6 मई तक बुल्गारिया और 7 मई को उत्तर मकेदोनिया की यात्रा करेंगे। अपनी यात्रा के दौरान संत पापा "एकजुट करने वाले तत्वों" पर प्रकाश डालेंगे।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 4 अप्रैल 2019 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस रविवार 5 मई रोम के समय अनुसार सुबह 7 बजे फ्यूमिचिनो हवाई अड्डे से बुल्गारिया के लिए प्रस्थान करेंगे और 2 घंटे की विमान यात्रा कर बुल्गालिया के सोफिया अतराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरेंगे।

संत पापा के प्रस्थान के पूर्व संध्या पर वाटिकन न्यूज से बात करते हुए, कार्डिनल पारोलिन ने बुल्गारिया की यात्रा के लोगो और आदर्श वाक्य "पाचेम इन तेरिस" – “पृथ्वी पर शांति”  की ओर इशारा किया, जो देश के पहले तीर्थयात्री और प्रेरितिक प्रतिनिधि संत जॉन तेईसवें के एक प्रेरितिक विश्वपत्र का शीर्षक है।

कार्डिनल ने कहा कि "संत पापा शांति का वाहक होंगे। हम पास्का काल में हैं जी उठे प्रभु येसु ने अपने शिष्यों को दर्शन देकर उन्हें अभिवादन में कहा, "तुम्हें शांति मिले। शांति मैं तुम्हें छोड़ देता हूँ, मेरी शांति तुम्हें देता हूँ।” संत पापा फ्राँसिस अपनी यात्रा के दौरान शांति और "एकजुट करने वाले तत्वों" पर प्रकाश डालेंगे जिसे संत पापा पॉल तेइसवें ने बुल्गारिया में शुरु की थी। वे अपनी मिलनसारिता, सज्जनता और दोस्ती को आगे बढ़ाते हुए देश में शांति की स्थापना में महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

अंतर कलीसियाई बैठक

कार्डिनल पारोलिन ने कहा कि बुल्गारिया में संत पापा फ्राँसिस रविवार को प्राधिधर्माध्यक्ष निओफ़ेत और बुल्गारियाई ऑर्थोडॉक्स कलीसिया के गिरजाघर में दो भाइयों संत सिरिल और संत मेथोदियुस के सिहासन के सामने कुछ समय मौन प्रार्थना में समय बितायेंगे। और  विभिन्न धार्मिक संप्रदायों के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक में भाग लेंगे।

कार्डिनल ने कहा कि संत सिरिल और संत मेथोदियुस पहली सहस्राब्दी की कलीसिया के संत थे। उस समय कलीसिया  अविभाजित थी लेकिन वहाँ तनाव का अनुभव किया जा रहा था। आगे चलकर कलीसिया में दरार पड़ने लगे और अंततः विभाजित हो गया।

कलकत्ता की संत मदर तेरेसा

उत्तर मकेदोनिया में, संत पापा  कलकत्ता के मदर तेरेसा के जन्मस्थान स्कोप्जे शहर का दौरा करेंगे और गरीबों पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

कार्डिनल पारोलिन ने कहा कि संत पापा जॉन तेईसवें और संत सिरिल संत मेथोदियुस के साथ संत मदर तेरेसा स्पष्ट रूप से इस यात्रा के प्रभावी हस्तियां हैं।

04 May 2019, 16:03