खोज

Vatican News
पनमुनजोम घोषणा की पहली वर्षगांठ पनमुनजोम घोषणा की पहली वर्षगांठ  

पनमुनजोम घोषणा की पहली वर्षगांठ पर संत पापा का वीडियो संदेश

संत पापा ने कोरियाई प्रायद्वीप की शांति, समृद्धि और एकीकरण के लिए पनमुनजोम घोषणा की पहली वर्षगांठ पर वीडियो संदेश में कोरियाई प्रायद्वीप की शांति और समृद्धि की शुभकामनाएं दी।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 27 अप्रैल 2019 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने उतर कोरिया और दक्षिण कोरिया वासियों को संबोधित कर कहा कि वे कोरियाई प्रायद्वीप की शांति, समृद्धि और एकीकरण के लिए पनमुनजोम घोषणा की पहली वर्षगांठ पर उन्हें खुशी के साथ शुभकामनाएं देते हैं। यह उत्सव सभी को आशा देती है कि एकता, संवाद और भ्रातृत्व पर आधारित भविष्य वास्तव में संभव है। धैर्य और लगातार प्रयासों के माध्यम से, विभाजन और टकराव को दूर किया जा सकता है।

संत पापा की प्रार्थना है कि पनमुनजोम घोषणा की यह वर्षगांठ सभी कोरियाई लोगों के लिए शांति का नया युग लाये। संत पापा ने सभी पर प्रचुर मात्रा में ईश्वरीय आशीर्वाद की कामना की।

विदित हो कि एक साल पहले आज के दिन दक्षिण कोरिया का पनमुनजोम में एक दूसरे के कट्टर दुश्मन रहे उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया ने दोनों देशों में शांति स्थापित करने के लिए समझौता किया। दोनों कोरियन देशों के बीच 1950 से शीतयुद्ध चल रहा था। इस दौरान दोनों देशों के बीच कभी भी शांति समझौते पर बात नहीं हुई। दक्षिण कोरिया के पीस हाउस में तीसरे कोरिया समिट में उत्तर कोरिया के किम जोंग उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई। दोनों देशों ने 'कोरियाई प्रायद्वीप पर शांति, समृद्धि और एकीकरण के लिए पनमुनजोम घोषणा' पत्र पर हस्ताक्षर किए और कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप में अब कोई लड़ाई नहीं होगी, बस शांति का नया अध्याय शुरू होगा।

27 April 2019, 16:18