खोज

Vatican News
इटली प्रांतीय संघों के अध्यक्षों से मिलते हुए संत पापा फ्राँसिस इटली प्रांतीय संघों के अध्यक्षों से मिलते हुए संत पापा फ्राँसिस  (Vatican Media )

इटली प्रांतीय संघों के अध्यक्षों को संत पापा का संदेश

संत पापा ने इटली के विभिन्न प्रांतों से आये अध्यक्षों से मुलाकात कर देश और समाज के विकास में उनके सहयोग की सराहना की और इसे जारी रखने हेतु शुभकामनाएं दी।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 27 अप्रैल 2019 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के केमेंटीन सभागार में इटली प्रांतीय संघों के करीब सौ अध्यक्षों से मुलाकात की। संत पापा ने उनका स्वागत कर अध्यक्ष महोदय के परिचय भाषण के लिए धन्यवाद दिया। संत पापा ने विभिन्न अवसरों पर उनके द्वारा दिये गये उदार अनुदान के लिए उन्हें विशेष धन्यवाद दिया।

संत पापा ने कहा कि वर्तमान में ज्ञान और प्रौद्योगिकी में तेजी से विकास हो रहा है इसके द्वारा समाज की विभिन्न आवश्यकताओं का प्रभावी ढंग से जवाब दिया जा रहा है। इसका प्रयोग गरीबी मिटाने और हाशिये पर जीवनयापन करने वालों के जीवन स्तर को उपर उठाने के लिए भी किया जाता है। संत पापा ने कहा कि आज की वास्तविकता बहुत जटिल है विभिन्न क्षेत्रों में लाभ और सकारात्मक विकास के साथ-साथ असंतुलन और हाशिया बना रहता है या कभी-कभी इसमें वृद्धि हो जाती है। इससे निपटने के लिए, नागरिक समाज के समूहों और संघों के कार्य और सार्वजनिक शक्तियों के गठन के विभिन्न स्तरों के प्रति सचेत और निरंतर कार्रवाई की आवश्यकता होती है।

प्रांत वह स्थान है जहाँ सार्वजनिक शक्तियाँ संरचित होती हैं। हर प्रांत का अपना इतिहास अपनी संस्कृति है। प्रांत के सफल प्रशासनिक संचालन दवारा केंद्रीय प्रशासन मजबूत होती है। प्रांतीय प्रशासन, स्थानीय समुदायों की जरुरतों को पूरा करने वाली मजबूत कड़ी है।

संत पापा ने उनकी प्रशंसा करते हुए कहा कि इटली के प्रांतों ने अपने कौशल को बनाये रखा है विशेष कर मिट्टी के संरक्षण, छोटे-बड़े शहरों को जोड़ने वाली सड़कों का नेटवर्क, माध्यमिक और उच्च विद्यालयों का प्रबंधन विद्यार्थियों की सुरक्षा और कार्य क्षमता सुनिश्चित करना। देश के स्थायी विकास के लिए अच्छे मजबूत सड़कों का होना जरुरी है जिससे लोगों को यात्रा करने में सुरक्षा और आराम मिले।

अंत में संत पापा ने उनके कार्यों की सराहना करते हुए साहस और उत्साह के साथ उन्हें जारी रखने हेतु प्रेरित किया और उन्हें अपनी प्रार्थना का आश्वासन दिया।

27 April 2019, 16:04