Cerca

Vatican News
क्रूसित येसु की प्रतिमा क्रूसित येसु की प्रतिमा  (AFP or licensors)

क्रूसित येसु की खुली भुजाएं मित्रता का अनमोल संकेत हैं, संत पापा

मसीह, हमारे प्यार के खातिर और हमें बचाने के लिए पूरी तरह से अपना बलिदान कर दिया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 15 अप्रैल 2019 (रेई) : काथलिक कलीसिया चालिसा काल के छठे रविवार को खजूर रविवार मनाती है और येसु के येरुसलेम प्रवेश की घटना की याद में खजूर एवं जैतून की डालियाँ लिए होसन्ना गाते हुए यात्रा करती है। रविवार से पवित्र सप्ताह की शुरुआत होती है। खजूर रविवार को ही काथलिक युवा अपने धर्मप्रांतों में विश्व युवा दिवस मनाते हैं। इसी संदर्भ में संत पापा ने रविवार 14 अप्रैल को जो ट्वीट किया।

प्रथम ट्वीट में संत पापा ने लिखा, “अपने अपमान को सहन करने के द्वारा, येसु ने हमारे लिए विश्वास के मार्ग को खोल दिया और उनकी इच्छा थी कि हम उस मार्ग पर आगे बढ़ें।”

दूसरे ट्वीट में संत पापा ने लिखा, “आज, विश्व युवा दिवस के दिन, मैं उन सभी युवा संतों, विशेष रूप से उन संतों का उल्लेख करना चाहता हूँ, जो हमारे साथ "अगले दरवाजे" पर रहते हैं, जिन्हें केवल ईश्वर ही जानते हैं, कभी-कभी उनके द्वारा हमें आश्चर्यचकित करना ईश्वर पसंद करते हैं।”

सोमवार 15 अप्रैल के ट्वीट में संत पापा ने लिखा, “मसीह, आपके प्यार के खातिर और आप को बचाने के लिए पूरी तरह से अपना बलिदान कर दिया। क्रूस पर उनकी खुली भुजाएं उनकी मित्रता की सबसे सर्वोच्च एवं अनमोल संकेत है।”

15 April 2019, 16:03