Cerca

Vatican News
येसु के पवित्रतम हृदय की तस्वीर लिये विश्वासी येसु के पवित्रतम हृदय की तस्वीर लिये विश्वासी  (AFP or licensors)

हमारे लिए ईश्वर का पीड़ित हृदय

प्राकृतिक आपदाओं में पड़े लोगों के प्रति सहानुभूति रखना और उनकी मदद करना हम सभी का कर्तव्य है क्योंकि ईश्वर सभी लोगों से प्रेम करते तथा उनके दुःखों से दुःखी होते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 19 फरवरी 2019 (रेई)˸ आज जलवायु परिवर्तन एवं कई अन्य कारणों से विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों को बाढ़, भूकम्प, सुनामी एवं सूखा जैसे प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ रहा है। इन घटनाओं में हर रोज बहुत सारे लोगों को मृत्यु का शिकार होना पड़ता है। इससे न केवल परिवार अथवा उस समाज के लोग प्रभावित हो रहे हैं बल्कि यह पूरे विश्व के लिए एक चिंता का विषय बन गया है। प्राकृतिक आपदाओं में पड़े लोगों के प्रति सहानुभूति रखना और उनकी मदद करना हम सभी का कर्तव्य है क्योंकि ईश्वर सभी लोगों से प्रेम करते तथा उनके दुःखों से दुःखी होते हैं।  

संत पापा फ्राँसिस ने 19 फरवरी के ट्वीट संदेश में दुखद परिस्थिति में पड़े लोगों के प्रति सहानुभूति रखने की प्रेरणा देते हुए लिखा, "हम ईश्वर के पीड़ित हृदय के रहस्य में प्रवेश करें जो पिता हैं, हम उनसे बातचीत करें, ऐसे समय में जब हम अपने समय में कई प्राकृतिक आपदाओं का सामना कर रहे हैं।"

19 February 2019, 17:26