Cerca

Vatican News
कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा पर सभा को सम्बोधित करते संत पापा कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा पर सभा को सम्बोधित करते संत पापा  (ANSA)

संत पापा ने की नाबालिगों की सुरक्षा पर सभा का उद्घाटन

वाटिकन में "कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा" पर सभा का उद्घाटन संत पापा फ्राँसिस ने 21 फरवरी को एक परिचयात्मक भाषण द्वारा किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

संत पापा ने सभा में उपस्थित प्राधिधर्माध्यक्षों, कार्डिनलों, महाधर्माध्यक्षों, धर्माध्यक्षों धर्मसमाजों के अधिकारी एवं नेताओं को सम्बोधित कर कहा, "कलीसिया के अधिकारियों द्वारा बाल यौन दुराचार के आलोक में, जिसने बच्चों को बहुत अधिक हानि पहुँचाया है, मैं आप सभी के साथ परामर्श करना चाहूँगा ताकि हम पवित्र आत्म को सुन सकें, उनके मार्गदर्शन के प्रति खुले हो सकें, बच्चों के रूदन को सुन सकें जो न्याय की गुहार लगा रहे हैं।"

बुराई का सामना किस प्रकार किया जाए

उन्होंने कहा, "इस सभा में हम प्रेरितिक एवं कलीसियाई जिम्मेदारी के भार को महसूस कर रहे हैं जो हमें एक साथ, खुलकर, गंभीरता से विचार-विमार्श करने हेतु प्रेरित कर रहा है कि कलीसिया एवं मानवता में इस बुराई का सामना किस प्रकार किया जाए। ईश्वर की पवित्र प्रजा हमारी ओर निगाहें लगायी हुई है तथा उनकी उम्मीद है कि हम उस बुराई की केवल साधारण एवं भावनात्मक निंदा न करें बल्कि उसके लिए ठोस और प्रभावशाली कदम उठायें। अतः हम मजबूत होने की जरूरत है।"

संत पापा ने सभा के प्रतिभागियों का आह्वान करते हुए कहा कि हम इस प्रक्रिया की शुरूआत विश्वास एवं आत्मा, साहस एवं यथार्थ से करें।

चिंतन

उन्होंने विभिन्न धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों द्वारा तैयार किये गये बिन्दुओं को प्रतिभागियों के बीच बांटने का आग्रह करते हुए, उन्हें पढ़ने और उस पर चिंतन करने की सलाह दी। उन्होंने कहा, "ये मार्गदर्शन हैं जो आपको चिंतन करने में मदद देंगे।" ये साधारण बिन्दु हैं जो आपलोगों की ओर से आये हैं और आप ही के पास वापस जा रहे हैं। इसका अर्थ सभा में रचनात्मकता को कम करना नहीं है।

सभा के आयोजकों को धन्यवाद

संत पापा ने सभी प्रतिभागियों की ओर से नाबालिगों के लिए गठित परमधर्मपीठीय समिति, विश्वास के सिद्धांत के लिए गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ, सभा की संयोजक समिति तथा इसकी तैयारी में सहयोग देने वालों को धन्यवाद दिया।

अपने सम्बोधन के अंत में उन्होंने पवित्र आत्मा से याचना की कि वे इन दिनों अपनी विशेष कृपा प्रदान करें तथा बुराई को जागरूकता एवं शुद्धीकरण के अवसर में बदलने में सहायता करें। माता मरियम से प्रार्थना की कि जब हम बाल यौन दुराचार के गहरे घावों की चंगाई करने का प्रयास कर रहे हैं तब माता मरियम हमारे लिए प्रार्थना करे। 

21 February 2019, 16:22