खोज

Vatican News
संयुक्त अरब अमीरात में ख्रीस्तयाग समारोह संयुक्त अरब अमीरात में ख्रीस्तयाग समारोह  (ANSA)

सन्त पापा यूएई के सम्पन्न काथलिक समुदाय के बीच

संयुक्त अरब अमीरात में अपनी तीन दिवसीय ऐतिहासिक यात्रा समाप्त करने से पूर्व मंगलवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने आबू धाबी में सम्पूर्ण अरब अमीरात के काथलिकों को अपना सन्देश दिया। ज़ायेद स्पोर्ट स्टेडियम में आयोजित ख्रीस्तयाग समारोह विश्वव्यापी काथलिक कलीसिया के परमधर्मगुरु द्वारा अरबी प्रायद्वीप में अर्पित पहला ख्रीस्तयाग समारोह था।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

आबू धाबी, मंगलवार, 5 फरवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): संयुक्त अरब अमीरात में अपनी तीन दिवसीय ऐतिहासिक यात्रा समाप्त करने से पूर्व मंगलवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने आबू धाबी में सम्पूर्ण अरब अमीरात के काथलिकों को अपना सन्देश दिया.  आबू धाबी के स्पोर्ट स्टेडियम में आयोजित ख्रीस्तयाग समारोह विश्वव्यापी काथलिक कलीसिया के परमधर्मगुरु द्वारा अरबी प्रायद्वीप में अर्पित पहला ख्रीस्तयाग समारोह था.

स्पोर्ट स्टेडियम में सन्त पापा फ्राँसिस की पारदर्शी गाड़ी के आगमन के साथ ही सम्पूर्ण स्टेडियम करतल ध्वनि की गड़गड़ाहट और "वीवा इल पापा" यानि सन्त पापा ज़िन्दाबाद तथा "वी लव यू पोप" के जयनारों से गूँज उठा. ख्रीस्तीय एवं मुसलमान नेताओं से युद्ध के बहिष्कार एवं शान्ति को प्रोत्साहित करने की आर्त अपील के एक दिन बाद सन्त पापा फ्राँसिस, इस्लाम धर्म की जन्मभूमि, अरबी प्रायद्वीप पर सार्वजनिक ख्रीस्तीय आराधना का सम्पादन कर रहे थे.

समारोह में  1,35,000 श्रद्धालु

ख्रीस्तयाग समारोह में लगभग 1,35,000 श्रद्धालुओं के उपस्थित होने का अनुमान लगाया गया था. ज़ायेद स्पोर्ट स्टेडियम में हालांकि, केवल 43.000 लोगों के बैठने की व्यवस्था है, स्टेडियम के इर्द -गिर्द टेलेविज़न के विशाल पर्दों का इन्तज़ाम किया गया था ताकि सभी श्रद्धालुओं को ख्रीस्तयाग समारोह में शरीक होने का मौका मिल सके. आयोजकों के अनुसार, समारोह में 4.000 इस्लाम धर्मानुयायियों सहित 100 विभिन्न देशों के ख्रीस्तीय धर्मानुयायी उपस्थित थे. संयुक्त अरब अमीरात में "सहिष्णुता वर्ष" की घोषणा करनेवाले उदघोषक से प्रेरित सन्त पापा फ्राँसिस के आगमन की प्रतीक्षा करता भक्त समुदाय वाटिकन के श्वेत एवं पीले ध्वजों को फहराता हुआ खुशी से झूम उठा. वस वर्षों से यूएई में निवास करनेवाली सुमिता पिन्टो ने "हमें यह कहना होगा कि वास्तव में यहारे लिए एक महान घटना थी जिसकी हमने कभी अपेक्षा नहीं की थी" . सुमिता ने अपने पति एवं चारों बेटों सहित ख्रीस्तयाग समारोह में भाग लिया. उनका सबसे छोटा बेटा एक पोस्टर लिये चल रहा था जिसपर लिखा था: "सन्त पापा फ्राँसिस आपका हार्दिक स्वागत है, मुझे अपनी शान्ति का माध्यम बना दीजिये".

काथलिकों में फिलीपिनो एवं भारतीयों का वर्चस्व 

संयुक्त अरब अमीरात का काथलिक समुदाय इस क्षेत्र के लिए एक विसंगति है - विशाल, विविध और सम्पन्न - जबकि अन्यत्र मध्यपूर्व के देशों में इस्लामिक स्टेट आईएस एवं अन्य कट्टरपंथी इस्लामिक दलों के हाथों उत्पीड़ित ख्रीस्तीयों को अपने देशों से पलायन करते देखा जा रहा है. काथलिक कलीसिया का अनुमान है कि संयुक्त अरब अमीरात में निवास करनेवाले 90 लाख लोगों में कम से कम दस लाख लोग काथलिक धर्म के अनुयायी हैं. अधिकांश काथलिक विदेशी हैं जो संयुक्त अरब अमीरात में नौकरियाँ करते हैं, इनमें फिलीपिन्स एवं भारत के लोगों का वर्चस्व है.

सन्त पापा द्वारा स्टेडियम में अर्पित ख्रीस्तयाग के दौरान फिलीपीनी तागालोक एवं भारत में बोली जानेवाली कोनकानी भाषाओं सहित विभिन्न भाषाओं में प्रार्थानाओं का पाठ किया गया. कोनकानी भाषा में की गई प्रार्थना में अधिकारियों का आह्वान किया गया कि वे प्रत्येक व्यक्ति की प्रतिष्ठा और गरिमा को प्रोत्साहित करने हेतु आलोकित होवें; तागालोक में, संयुक्त अरब अमीरात में नौकरीरत आप्रवासी श्रमिकों के लिये प्रार्थना की गई कि "उनका बलिदान और परिश्रम उनके परिवारों को जीने के साधन उपलब्ध कराकर उन्हें संपोषित करें." फ्रेंच भाषा में प्रभु ईश्वर से आर्त याचना की गई कि जो लोग हिंसा को प्रश्रय देते उनका मनपरिवर्तन हो ताकि वे "युद्ध को रोकें, घृणा को दूर करें तथा न्याय और शांति की स्थापना में हमारी मदद करें."

05 February 2019, 12:02