Cerca

Vatican News
आमदर्शन समारोह में लोगों के साथ संत पापा आमदर्शन समारोह में लोगों के साथ संत पापा  (ANSA)

दीनता एक स्वतंत्रता

संत पापा फ्राँसिस ने 12 जनवरी को एक ट्वीट प्रेषित कर विश्वासियों को दीन बनने के महत्व पर प्रकाश डाला।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 12 जनवरी 2019 (रेई)˸ समाज में प्रायः ऐसे लोगों को अधिक सम्मान मिलता है जो उच्च पदों पर कार्यरत होते अथवा अधिक धनी होते हैं किन्तु सच्चा सम्मान इस बात में है कि लोग अपने जीवन को ईश्वर के बहुमूल्य वरदान के रूप में स्वीकार करते हुए, उसे उन्हीं की इच्छा अनुसार दूसरों की सेवा के लिए जीने में आनन्द का अनुभव करते हैं।

संत पापा फ्राँसिस ने 12 जनवरी को एक ट्वीट प्रेषित कर विश्वासियों को दीन बनने के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने संदेश में लिखा, "दीनता एक स्वतंत्रता है। व्यक्ति जो सुसमाचार के मनोभाव में दीन है वह किसी तरह का भार महसूस नहीं करता तथा दिखावे की भावना एवं सफलता के दावे से दूर रहता है।"

पर्वत प्रवचन में येसु की पहली शिक्षा यही थी, ''धन्य हैं वे, जो अपने को दीन-हीन समझते हैं! स्वर्गराज्य उन्हीं का है।"

12 January 2019, 15:44