Cerca

Vatican News
मकेदोनिया में ख्रीस्त जयंती समारोह मकेदोनिया में ख्रीस्त जयंती समारोह  (ANSA)

संत पापा फ्राँसिस का 6 और 7 जनवरी का ट्वीट संदेश

संत पापा ने मध्य पूर्वी देशों के ख्रीस्तियों को ख्रीस्त जयंती की हार्दिक शुभकामनायें दी।

वाटिकन सिटी, सोमवार 07 जनवरी 2019 (रेई) : यूँ तो ख्रीस्त जयंती का त्योहार हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है। मगर, दुनिया में कुछ ऐसे देश है, जहां क्रिसमस का त्योहार 25 दिसंबर को नहीं होता है। इसके 13 दिन बाद यानी 7 जनवरी को क्रिसमस मनाया जाता है। दरअसल, मध्य पूर्वी देशों में आज भी ‘जूलियन’ कैलेंडर का इस्तेमाल होता है। जूलियन कैलेंडर में 25 दिसंबर का दिन 7 जनवरी को आता है। इसीलिए ये देश 7 जनवरी को क्रिसमस मनाते है। इनमें बेलारूस, मिस्र, इथोपिया, कजाकिस्तान, सर्बिया और रूस शामिल हैं। संत पापा फाँसिस ने ट्वीट प्रेषित कर मध्य पूर्वी देशों के ख्रीस्तियों को ख्रीस्त जयंती की हार्दिक शुभकामनायें दी।

संदेश में उन्होंने लिखा,“ईश्वर ने मनुष्य का रुप धारण किया। वे येसु बनकर हमारे साथ जीवन बिताने के लिए इस दुनिया में आये। आइए हम इस संबंध को अपने साथ और एक दूसरे के साथ जीवित बनाये रखें। मध्य पूर्वी देशों के हमारे ख्रीस्तीय भाइयों और बहनों को ख्रीस्त जयंती की शुभकामनाएं।”

6 जनवरी का ट्वीट संदेश

काथलिक कलीसिया ग्रेगोरियन कलेंडर के अनुसार 6 जनवरी को प्रभु प्रकाश के त्योहार मनाती है। पूर्व देशों से आये ज्योतिषियों ने बालक येसु की सिजदा की और उन्हें सोना, लोबान एवं गंधरस की कीमती भेंट चढ़ाई। इस दिन संत पापा ने ट्वीट प्रेषित कर सभी ख्रीस्तियों को देने की खुशी का अनुभव करने हेतु प्रभु से कृपा मांगने के लिए प्रेरित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा, “ज्योतिषियों ने बालक येसु को अपना कीमती उपहार दिया।  आइये, आज, हम ईश्वर से आग्रह करें: प्रभु, मुझे देने की खुशी को फिर से ढूँढने में मेरी मदद करें।”

07 January 2019, 17:00