खोज

Vatican News
पनामा के सन्त जॉन पौल द्वितीय मैदान में जागरण समारोह पनामा के सन्त जॉन पौल द्वितीय मैदान में जागरण समारोह  

पनामा के रात्रि जागरण में छः लाख हुए उपस्थित

वाटिकन का अनुमान है कि शनिवार सन्ध्या पनामा सिटी के मेट्रो पार्क स्थित सन्त जॉन पौल को समर्पित मैदान में सन्त पापा फ्राँसिस के नेतृत्व में आयोजित रात्रि जागरण में लगभग छः लाख श्रद्धालु उपस्थित हुए। इनमें पनामा के ही नहीं अपितु पड़ोसी राष्ट्र एल साल्वाडोर, आर्जेनटीना, कोलोम्बिया, वेनेज़ुएला, निकारागुआ तथा संयुक्त राज्य अमरीका के भी युवा शामिल थे।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, रविवार, 27 जनवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): पनामा सिटी के सान्ता मरिया ला आन्तिग्वा मरियम महागिरजाघर में सम्पन्न ख्रीस्तयाग समारोह के उपरान्त शनिवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने विश्व के भिन्न राष्ट्रों से विश्व युवा दिवस में शरीक होने आये युवाओं के युवस युवा प्रतिनिधियों के साथ मध्यान्ह भोजन किया. वाटिकन ने प्रतिभोज के वातावरण को सुपरिचित एवं आनन्दमय निरूपित किया तथा युवाओं ने कहा कि वे सन्त पापा की सादगी, सरलता, अनौपचारिकता और उनके सवालों में दिलचस्पी को देखकर हैरान थे.

वाटिकन का अनुमान है कि शनिवार सन्ध्या पनामा सिटी के मेट्रो पार्क स्थित सन्त जॉन पौल को समर्पित मैदान में सन्त पापा फ्राँसिस के नेतृत्व में आयोजित रात्रि जागरण में लगभग छः लाख श्रद्धालु उपस्थित हुए. इनमें पनामा के ही नहीं अपितु पड़ोसी राष्ट्र एल साल्वाडोर, आर्जेनटीना, कोलोम्बिया, वेनेज़ुएला, निकारागुआ तथा संयुक्त राज्य अमरीका के भी युवा शामिल थे. कई युवाओं ने समारोह के दौरान अपने साक्ष्य प्रस्तुत किये जिनमें मदाक्थों का आसक्ति से पीड़ित युवा तथा डाऊन सिन्ड्रोम से ग्रस्त बच्चे के माता-पिता भी शामिल थे.

साक्ष्य

मदाक पदार्थों के चँगुल से निकले एक युवा ने कहा, "मेरे परिवार आर्थिक संकट से जूझ रहा था, कॉलेज जाने के लिये भी मेरे पास पैसे नहीं थे, रोज़गार का कोई आसरा नहीं था और मैं तस्करों के जाल में फँस गया किन्तु जब गिरजाघर जाने तबा तब मैंने मादक पदार्थों और इससे जुड़े अपराध की गम्भीरता को समझा. "

डाऊन सिन्ड्रोम से ग्रस्त एक बच्चे के माता पिता ने भी अपना साक्ष्य प्रस्तुत कर सन्त पापा को बताया कि उनकी दो वर्षीय बच्ची बीमार है और उसके उपचार के लिये उन्होंने कई दरवाज़े खटखटाये हैं. उन्होंने कहा कि उनके इस संघर्ष ने ईश्वर में उनके विश्वास को और अधिक मज़बूत बना दिया है क्योंकि प्रार्थना से ही वे सबकुछ सहने की शक्ति प्राप्त करते हैं. "

फिलीस्तीन की एक युवती ने भी अपना साक्ष्य प्रस्तुत किया. उन्होंने बताया कि हालांकि, उनका जन्म एक ख्रीस्तीय परिवार में हुआ था तथापि, ख्रीस्तीय धर्मपालन में उनकी कोई खास रुचि नहीं थी किन्तु 2016 में पोलैण्ड के क्रेकाव शहर में सम्पन्न विश्व युवा दिवस में शरीक होने के बाद प्रभु ख्रीस्त में उनका विश्वास सुदृढ़ हुआ है.  

एल साल्वाडोर से पनामा पहुँची धर्मबहन सि. मरिया दे ग्वादालूपे बताती है कि विश्व युवा दिवस का एहसास भावपूर्ण और तीव्र रहा है. यह बहुत गतिक है, कुछ थकाऊ ज़रूर है किन्तु सन्त पापा फ्राँसिस का सन्देश सुनना लाभप्रद और मूल्यवान अनुभव है.

यात्रा का समापन

कड़ाके धूप से तपते पनामा सिटी के मेट्रो पार्क स्थित सन्त जॉन पौल मैदान की घास पर रात्रि जागरण में शामिल होने तथा सन्त पापा प्राँसिस के दर्शन के लिये , शनिवार सुबह से ही, युवाओं ने जगह-जगह पर अपने तम्बू और तिरपालें बिछा रखी थी . जागरण धर्मविधि प्रार्थना के उपरान्त भी सैकड़ों युवाओं ने इसी मैदान पर रात व्यतीत की ताकि रविवार को सन्त पापा के नेतृत्व में विश्व युवा दिवस के विधिवत समापन तथा ख्रीस्तयाग समारोह में भाग ले सकें . ख्रीस्तयाग समारेह में पनामा सहित कॉस्टा रिका, कोलोम्बिया, ग्वाटेमाला, एल साल्वाडोर, हॉनड्यूराज़ तथा पुर्तगाल के वरिष्ठ नेताओं ने भाग लिया.

रविवार को सन्त पापा फ्राँसिस पनामा सिटी के मेट्रो पार्क स्थित सन्त जॉन पौल मैदान में ख्रीस्तयाग अर्पित करने के उपरान्त एड्स रोगियों के हित में कलीसिया द्वारा संचालित एक केन्द्र की भेंट तथा विश्व युवा दिवस के आयोजकों एवं स्वयंसेवकों से मुलाकात कर पनामा में अपनी चार दिवसीय प्रेरितिक यात्रा समाप्त कर रहे हैं. पनामा यह सन्त पापा फ्राँसिस की पहली तथा इटली से बाहर 26 वीं प्रेरितिक यात्रा थी.

27 January 2019, 12:14