खोज

Vatican News
पनामा में सन्त पापा फ्राँसिस राष्ट्रपति कारलोस वारेला के साथ पनामा में सन्त पापा फ्राँसिस राष्ट्रपति कारलोस वारेला के साथ  

फिलीपिन्स, कोलोम्बिया में बम धमाकों की सन्त पापा ने की निन्दा

फिलीपिन्स में रविवार को तथा कोलोम्बिया में बम धमाकों की सन्त पापा फ्राँसिस ने कड़ी निन्दा की जिसमें कई लोगों की हत्या हो गई तथा बहुत से लोग घायल हो गये हैं।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर -वाटिकन सिटी

पनामा सिटी, सोमवार, 28 जनवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): फिलीपिन्स में रविवार को तथा कोलोम्बिया में जनवरी माह के आरम्भ में किये गये बम धमाकों की सन्त पापा फ्राँसिस ने कड़ी निन्दा की जिसमें कई लोगों की हत्या हो गई तथा बहुत से लोग घायल हो गये हैं.

फिलीपिन्स के लिये प्रार्थना

पनामा सिटी में, अपनी प्रेरितिक यात्रा के अन्तिम दिन रविवार 27 जनवरी को, "काज़ा होगार एल बोन समारितानो" एड्स रोगी आश्रम में सन्त पापा फ्राँसिस ने फिलीपिन्स के एक महागिरजाघर पर हुए आतंकवादी आक्रमण की निन्दा की तथा प्रभु ईश्वर से प्रार्थना की कि प्रभु इन बम धमाकों को अन्जाम देनेवालों का मनपरिवर्तन करें. "उन्होंने कहा, हत्या के शिकार हुए तथा घायलों के लिये मैं प्रार्थना करता हूँ. मेरी मंगल याचना है कि शान्ति के राजकुमार प्रभु येसु, हिंसा में संलग्न व्यक्तियों का मनपरिवर्तन करें."

दक्षिण फ़िलीपींस के ज़ोलो द्वीप में एक रोमी काथलिक महागिरजाघर में रविवार को  दो बम विस्फोट हुए जिनमें अब तक 20 लोगों के मारे जाने तथा कम से कम 81 लोगों के घायल होने की पुष्टि हुई है.

कोलोम्बिया के लिये प्रार्थना

पनामा के पड़ोसी राष्ट्र केन्द्रीय अमरीका के कोलोम्बिया के लिये भी सन्त पापा फ्राँसिस ने प्रार्थना की अपील की जहाँ 17 जनवरी को एक कार में रखे बम से 21 पुलिस कर्मियों की हत्या हो गई थी. सन्त पापा ने एक-एक कर समस्त 21 पुलिसकर्मियों के नाम गिनाये तथा उनकी आत्मा की शान्ति हेतु प्रभु ईश्वर से प्रार्थना की.

यहूदी नरसंहार के शिकार लोगों के लिये प्रार्थना

इसी बीच, 27 जनवरी को विश्व के विभिन्न राष्ट्रों में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी के तत्कालीन नाज़ी प्रशासन काल में नरसंहार के शिकार बने यहूदियों को सन्त पापा फ्राँसिस ने याद किया. नज़रबन्दी शिविरों में मारे गये लाखों यहूदियों के प्रति श्रद्धान्जलि अर्पित करनेवालों के साथ अपनी आवाज़ मिलाते हुए यहूदी समुदाय के प्रति सन्त पापा ने एकात्मता व्यक्त की तथा आशा व्यक्त की कि जो उस युग में हुआ वह और कभी दुहराया न जाये.

पनामा सिटी के हुवान डियाज़ स्टेडियम में अपनी प्रेरितिक यात्रा के अन्तिम कार्यक्रम में सन्त पापा फ्राँसिस ने विश्व युवा दिवस के दौरान सेवारत समस्त स्वयंसेवकों से मुलाकात कर उन्हें अपना आशीर्वाद प्रदान किया. स्वयंसेवकों की निःस्वार्थ सेवा के लिये उन्होंने हार्दिक आभार व्यक्त किया औनसे आग्रह किया कि वे विश्व के कोने कोने में जाकर अपने अनमोल अनुभवों का साक्ष्य प्रस्तुत करें. उन्होंने कहा कि बडे-बड़े और महान कार्य नहीं अपितु दैनिक जीवन के सामान्य कृत्य दिन की प्रत्येक घड़ी को नवीकृत और रूपान्तरित कर देते हैं.   

28 January 2019, 11:45