खोज

Vatican News
पनामा में सन्त पापा फ्राँसिस का स्वागत पनामा में सन्त पापा फ्राँसिस का स्वागत  

युवाओं को प्रोत्साहित करने पनामा पहुँचे सन्त पापा फ्राँसिस

सार्वभौमिक काथलिक कलीसिया के परमधर्मगुरु सन्त पापा फ्राँसिस, बुधवार को, रोम से लगभग 13 घण्टों की हवाई यात्रा के उपरान्त, केन्द्रीय अमरीका के पनामा देश पहुँचे जहाँ वे विश्व युवा दिवस 2019 के लिये विश्व के विभिन्न राष्ट्रों से एकत्र युवाओं को अपना सन्देश देंगे।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

पनामा की ओर, गुरुवार, 24 जनवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): सार्वभौमिक काथलिक कलीसिया के परमधर्मगुरु सन्त पापा फ्राँसिस, बुधवार को, रोम से लगभग 13 घण्टों की हवाई यात्रा के उपरान्त, केन्द्रीय अमरीका के पनामा देश पहुँचे जहाँ वे विश्व युवा दिवस 2019 के लिये विश्व के विभिन्न राष्ट्रों से एकत्र युवाओं को अपना सन्देश देंगे. सन्त जॉन पौल द्वितीय द्वारा स्थापित विश्व युवा दिवस प्रति तीसरे वर्ष विश्व के किसी न किसी राष्ट्र में मनाया जाता है. इसका उद्देश्य युवाओं को न्याय एवं शांति निर्माण में सहभागी बनाने हेतु प्रोत्साहन प्रदान करना है.

हवाई अड्डे पर स्वागत

बुधवार को स्थानीय समयानुसार दूसरे पहर सन्त पापा फ्राँसिस का विमान पनामा सिटी के तोकूमन अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुँचा जहाँ पनामा के राष्ट्रपति हुवान कारलोस वारेला, उनकी धर्मपत्नी लोरेना कास्तील्लो तथा पनामा में वाटिकन के प्रेरितिक राजदूत महाधर्माध्यक्ष आदमसिक मीरोस्लाव सहित अनेक वरिष्ठ सरकारी एवं कलीसियाई अधिकारियों ने राष्ट्र में उनका स्वागत किया. हवाई अड्डे के ओर-छोर प्रतीक्षारत लगभग 2.000 युवा दर्शकों ने वाटिकन एवं पनामा के ध्वजों को फहराते तथा जयनारों के साथ अपने खास मेहमान का हार्दिक स्वागत किया. उनके विशाल पोस्टरों पर उन्होंने लिखा: "ये सन्त पापा के युवा हैं". हवाई अड्डे पर एक लघु स्वागत समारोह के बाद सन्त पापा पनामा सिटी स्थित प्रेरितिक राजदूतावास के लिये रवाना हो गये.

पनामा की 89 प्रतिशत जनता ईसाई 

पनामा केन्द्रीय अमेरिका का दक्षिणतम राष्ट्र है. इसके उत्तरपश्चिम में कॉस्टा रीका, दक्षिणपूर्व में कोलम्बिया, दक्षिण में प्रशांत महासागर और पूर्व में कैरिबियाई सागर है. 1501 ई. में स्पेन के रॉड्रिगो डी बेस्टिडास ने क्रिस्टोफर कोलम्बस के साथ पनामा की खोज की थी. राष्ट्र की कुल जनसंख्या एक करोड़ 78 लाख 490 बताई जाती है. स्पेन के उपनिवेश रह चुके पनामा की 89 प्रतिशत जनसंख्या ख्रीस्तीय धर्मानुयायी है तथा 11 प्रतिशत लोग अन्य धर्मों एवंर्मपन्थों को मानने वाले हैं.

पनामा में सन्त पापा फ्राँसिस की यह पहली तथा इटली से बाहर उनकी 26 वीं प्रेरितिक यात्रा है. यात्रा का प्रमुख उद्देश्य 23 से 28 जनवरी तक पनामा सिटी में निर्धारित 34 वें विश्व युवा दिवस के लिये एकत्र युवाओं को नैतिक एवं मानवीय मूल्यों के वरण हेतु प्रेरणा प्रदान करना है. इससे पूर्व सन् 1983 में सन्त पापा जॉन पौल द्वितीय ने पनामा की प्रेरितिक यात्रा की थी.

24 January 2019, 11:27