Cerca

Vatican News
यात्रा हेतु प्रतीक चिन्ह यात्रा हेतु प्रतीक चिन्ह  

संत पापा फरवरी में संयुक्त अरब अमीरात का दौरा करेंगे

संत पापा फ्राँसिस 2019 के 3 से 5 फरवरी तक संयुक्त अरब अमीरात का दौरा करेंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 6 दिसम्बर 2018 (रेई)˸ वाटिकन प्रेस कार्यालय एवं वाटिकन प्रवक्ता ग्रेग बर्क ने 6 दिसम्बर को एक बयान जारी कर कहा, "अबू धाबी के क्राउन राजकुमार शेइख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान के निमंत्रण को स्वीकार करते हुए संत पापा फ्राँसिस 3 से 5 फरवरी 2019 को अबू धाबी का दौरा करेंगे जहाँ वे "मानवीय भाईचारा" पर अंतरराष्ट्रीय अंतरधार्मिक सभा में भाग लेंगे। यात्रा का दूसरा कारण है संयुक्त अरब अमीरात के काथलिक धर्माध्यक्षों के निमंत्रण को स्वीकार करना।" 

यात्रा की विषयवस्तु होगी, "मुझे शांति का मार्ग बना।"

संत पापा फ्राँसिस ने अपना नाम असीसी के संत फ्राँसिस के नाम पर फ्राँसिस रखा है जो येसु ख्रीस्त के उन शब्दों का पालन करने वाले एक ज्वलंत उदाहरण हैं, "धन्य हैं वे जो मेल (शांति) कराते हैं वे ईश्वर के पुत्र कहलायेंगे। "(मती. 5:9)

ईश्वर की शांति मानव के अंदर हर प्रकार के विद्रोह को सकारात्मक मनोभाव में  बदल देता तथा येसु के संदेश को ग्रहण करने हेतु प्रेरित करता है जिन्होंने दुनिया के साथ मेल कर लिया है। आदर्श वाक्य संत फ्राँसिस असीसी की प्रार्थना से लिया गया है जो संत पापा की संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा हेतु हमारी प्रार्थना को व्यक्त करता है कि यह मुलाकात सभी लोगों के दिल में ईश्वर की शांति उत्पन्न करे।  

प्रतीक चिन्ह (लोगो)

यात्रा हेतु प्रतीक चिन्ह के रूप में एक कबूतर के चित्र को लिया गया है जो अपनी चोंच में जैतून की डाली ली हुई है। कपोत का रेखाचित्र श्वेत में पीले रंग से निर्मित किया गया है जो वाटिकन के झंड़े का प्रतीक है और संयुक्त अरब अमीरात के झंडे को भी कबूतर में अंकित किया गया है जो देश में शांति के अग्रदूत संत पापा फ्राँसिस की यात्रा को दर्शाता है।

06 December 2018, 15:59