Cerca

Vatican News
देवदूत प्रार्थना के दौरान मोमबत्ती जलाते संत पापा देवदूत प्रार्थना के दौरान मोमबत्ती जलाते संत पापा  (AFP or licensors)

सीरिया में शांति हेतु संत पापा द्वारा दीप प्रज्वलन

संत पापा फ्राँसिस ने देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में उपस्थित विश्वासियों का अभिवादन करते हुए सीरिया के लोगों की याद की तथा शांति की आशा करते हुए दीप प्रज्वलित किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 3 दिसम्बर 2018 (रेई)˸ संत पापा ने कहा, "आगमन काल आशा का समय है। इस समय मैं सीरिया के लोगों के लिए शांति की आशा करता हूँ,  सीरिया जो आठ वर्षों से युद्ध से पीड़ित है। यही कारण है कि "एड टू द चर्च इन नीड" की पहल का अनुपालन करते हुए मैं सीरिया के अनेक बच्चों एवं विश्व के दूसरे विश्वासियों के साथ मोमबत्ती प्रज्वलित कर रहा हूँ। 

इस आशा एवं बहुत सारी आशाओं की ज्वालाएँ युद्ध के अंधेरे को दूर करे। हम सीरिया एवं मध्यपूर्व में दया, क्षमाशीलता एवं मेल-मिलाप के साक्षी उन सभी ख्रीस्तियों के लिए प्रार्थना करते एवं उनकी सहायता करते हैं जो वहाँ रह रहे हैं।

आशा की ज्वाला उन लोगों तक भी पहुँचे जो विश्व के अन्य हिस्सों में संघर्ष से पीड़ित हैं। कलीसिया की प्रार्थना उन्हें निष्ठावान ईश्वर की उपस्थिति का एहसास प्रदान करे तथा शांति हेतु सच्चे समर्पण के लिए हर व्यक्ति के अंतःकरण का स्पर्श करे। प्रभु उन लोगों को माफ कर दे जो युद्ध करते हैं, जो लोग खुद को नष्ट करने के लिए युद्ध सामग्री तैयार करते हैं, प्रभु उनके जीवन को बदल दे। हम प्यारे सीरिया में शांति के लिए प्रार्थना करें।   

इसके बाद संत पापा ने देश-विदेश से एकत्रित सभी तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों का अभिवादन किया, खासकर उन्होंने, लंदन, अमरीका वालेंसिया और पम्पलोना के लोगों एवं मड्रीड के क्लारेट कॉलेज के विद्यार्थियों का अभिवादन किया।

अंत में उन्होंने प्रार्थना का आग्रह करते हुए, शुभ रविवार एवं शुभ आगमन काल की यात्रा की मंगलकामनाएँ अर्पित की।

03 December 2018, 15:35