Cerca

Vatican News

पनामा में विश्व युवा दिवस हेतु संत पापा का विडियो संदेश

पनामा में 34वें विश्व युवा दिवस के अवसर पर संत पापा फ्राँसिस 23 - 27 जनवरी 2019 तक पनामा की प्रेरितिक यात्रा करेंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

बुधवार 23 जनवरी को संत पापा रोम के फ्यूमिचिनो हवाई अड्डे से अल इतालिया विमान द्वारा 9,500 की दूरी तय कर पनामा पहुँचेंगे।

पनामा में विश्व युवा दिवस की विषयवस्तु है, "देख मैं प्रभु की दासी हूँ, आपका कथन मुझ में पूरा हो।"(लूक.1:38)

संत पापा का विडियो

संत पापा फ्राँसिस ने 21 नवम्बर को एक वीडियो संदेश प्रकाशित कर पनामा में विश्व युवा दिवस में भाग लेनेवाले युवाओं को सम्बोधित किया। उन्होंने संदेश में कहा, "विश्व युवा दिवस नजदीक आ रहा है। यह जनवरी में पनामा में आयोजित किया जाएगा।"

संत पापा ने कहा कि मरियम के शब्द साहस एवं उदारता के लिए "हाँ" है। यह उस व्यक्ति का सकारात्मक जवाब है जो बुलाहट की सच्चाई को समझता है। जो अपने आपसे बाहर आकर दूसरों की सेवा हेतु अपने को अर्पित करता है। हमारे जीवन का अर्थ सिर्फ ईश्वर एवं लोगों की सेवा में है।

"हाँ" कहने का साहस

संत पापा ने युवाओं की स्थिति पर गौर करते हुए कहा कि कई युवा हैं जो अपनी पढ़ाई समाप्त कर, पीड़ित लोगों के लिए कुछ करना चाहते हैं। यह युवाओं की शक्ति है एक ऐसी शक्ति जो सभी लोगों के पास है। यह शक्ति दुनिया को बदल सकती है। सचमुच सेवा की शक्ति ही वह क्रांति है जो हमारी दुनिया में प्रबल ताकतों पर विजय प्राप्त कर सकती है।  

ईश्वर एवं लोगों की सेवा

सेवा का अर्थ बतलाते हुए संत पापा ने कहा कि दूसरों की सेवा करने का अर्थ कार्य करने के लिए तत्पर रहना मात्र नहीं है। इसका अर्थ है ईश्वर के साथ वार्तालाप करना एवं मरियम के समान सुनने का मनोभाव रखना। उन्होंने देवदूत के कथन को सुना तत्पश्चात् उसका उत्तर दिया। इसे विवाह, समर्पित और पुरोहिताई जीवन को अपना कर व्यक्त किया जा सकता है। ये सभी येसु का अनुसरण करने के रास्ते हैं किन्तु महत्वपूर्ण चीज है कि उस बात को समझ पाना कि ईश्वर हमसे क्या चाहते हैं तथा उसे हाँ कहने के लिए साहसी बन पाना।  

मरियम एक प्रसन्नचित महिला

मरियम एक प्रसन्नचित महिला थी क्योंकि उन्होंने ईश्वर को उदारता पूर्वक उत्तर दिया था एवं ईश्वर की योजना के लिए अपना हृदय द्वार खोला था। ईश्वर के पास मरियम के समान जब हमारे लिए प्रस्ताव होता है तब वे हमारे स्वप्न को समाप्त करना नहीं चाहते, बल्कि वे हमारी आकांक्षाओं को प्रज्वलित करना चाहते हैं। इस प्रकार के प्रस्ताव हमारे जीवन को फलप्रद बनाने एवं अधिक प्रसन्नचित हृदयों को उत्पन्न करने के लिए होता है। ईश्वर के प्रस्ताव का सकारात्मक जवाब देने का पहला कदम है खुश रहना तथा अधिक से अधिक लोगों को खुश रखना।

यात्रा की तैयारी हेतु शुभकामनाएँ

संत पापा ने युवाओं को सम्बोधित कर कहा, "प्रिय युवाओं, साहसी बनें अपने अंदर प्रवेश कर प्रभु से कहें, आप मुझसे क्या चाहते हैं? ईश्वर को उत्तर देने दें। तब आप देखेंगे कि आपके जीवन में किस तरह बदलाव आयेगा और आप खुशी से भर जायेंगे।"

संत पापा ने सभी युवाओं को विश्व युवा दिवस की तैयारी करने की सलाह देते हुए माता मरियम से प्रार्थना की वे उन्हें साहस एवं उदारता पूर्वक उत्तर देने में सहायता करे। उन्होंने वीडियो संदेश में सभी को पनामा की सफल यात्रा हेतु शुभकामनाएं अर्पित की।   

21 November 2018, 14:48