बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

पत्रकारिता में सच्चाई का महत्व

संत पापा फ्राँसिस ने इताली समाचार एजेंसी एसआईआर "धार्मिक सूचना सेवा" के पत्रकारों से कहा कि वे हमेशा सच बोलें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

इताली समाचार एजेंसी एसआईआर (सेरवित्यियो इनफोरमात्सियोने रेलीजोसा) को उसकी प्रकाशना की 30वीं वर्षगाँठ पर संत पापा फ्राँसिस ने उसके पत्रकारों को एक संदेश प्रेषित किया। एजेंसी की स्थापना इताली काथलिक कलीसिया में धार्मिक एवं दुनियावी मामलों में बेहतर सम्पर्क के उद्देश्य से किया गया था।

कार्य जारी रखें

"धार्मिक सूचना सेवा" को दिए अपने संदेश में संत पापा फ्राँसिस ने कहा, "तीस साल एक लम्बी अवधि है किन्तु यह अंतिम रेखा नहीं है। अतः आप अपना कार्य जारी रखें, उसी ताजगी के साथ जिसकी कल्पना आपके संस्थापक ने की थी और एक विशिष्ट योजना को कार्यान्वित किया था ताकि इटली के विभिन्न क्षेत्रों एवं उनके धर्मप्रांतों को जानकारी उपलब्ध की जा सके।" संत पापा ने गौर किया कि एजेंसी इटली के काथलिकों के बीच एक सामाजिक-सांस्कृतिक एकता का माध्यम है।   

सच्चाई एवं निष्पक्षता को समर्पित

संत पापा ने एसआईआर के प्रथम अध्यक्ष मोनसिन्योर जुस्सेपे काच्चामी की दूरदर्शिता की सराहना की, जिन्होंने आशा की थी कि एजेंसी, रिपोर्ट करते समय सच्चाई एवं निष्पक्षता के लिए समर्पित होगी। संत पापा ने कहा कि मोनसिन्योर काच्चामी की मनोकामना आज भी महत्वपूर्ण है जब दुनिया में "फेक न्यूज़" का प्रभाव बढ़ रहा है। अतः उन्होंने एसआईआर के पत्रकारों का आह्वान किया कि वे समर्पण को जारी रखें, सच्चाई की ओर झुके रहें क्योंकि असत्य से लड़ने का यही एकमात्र एवं प्रभावशाली दवाई है।

आवाजहीनों की आवाज

अपने संदेश में संत पापा ने "धार्मिक सूचना सेवा" के पत्रकारों से कहा कि वे उन लोगों की आवाज बनें जो आवाजहीन हैं।" संत पापा ने पत्रकारों से कहा कि वे अपने कार्य क्षेत्र में सेतु का निर्माण करें।

30 October 2018, 15:49