बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
संत पापा धर्मबहनों के संग संत पापा धर्मबहनों के संग  (AFP or licensors)

संत पापा का अभिवादन

आमदर्शन समारोह में संत पापा फ्रांसिस ने सभों का अभिवादन किया।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

अपनी धर्मशिक्षा माला के अंत में संत पापा फ्रांसिस ने सभी विश्वासियों और तीर्थयात्रियों का अभिवादन किया। उन्होंने इतालवी भाषी तीर्थयात्रियों के अलावे कापीतुलारी की धर्मबहनों का जो बुजूर्ग परित्यक्त लोगों की सेवा करते, इटली के विभिन्न धर्मसमाजों के अधिकारियों का जो यूएसएमआई द्वारा आयोजित संगोष्टी में भाग ले रहे हैं स्वागत किया।

संत पापा ने विभिन्न पल्ली समुदायों, फाएनेज-मोदीलीना के युवाओं और उनके साथ आये उनके धर्माध्यक्ष मारियो तोसो, येसु और मरियम के पवित्र हृदय की धर्मबहनों का जो तीर्थयात्रा में रोम आये है, चिओगिया-पादुआ के एमोडायलाइज्ड और प्रत्यारोपित समूह और विशेष कर लूगो के पेशेवर तकनीकी समुदाय के लोगों और रिपी संस्थान के प्रतिभागियों का अभिवादन किया।

संत पापा फ्रांसिस ने विशेष रुप से युवाओं, बुजूर्गों, बीमारों और नव-विवाहितों की याद की।

उन्होंने कहा कि येसु ख्रीस्त का संदेश हम से अतिविशेष कार्य करने की मांग नहीं करता है लेकिन हम ईश्वर को अपने जीवन में जगह दें। ईश्वर हमें कहते हैं,“मेरे बिना तुम कुछ नहीं कर सकते”। (यो.15.5) खीस्तियों के रुप में हम जीवन की अपनी कमजोरियों में ईश्वर की शक्ति का एहसास करते हैं जो हमें अपने रोज दिन के जीवन में आनंद और खुशी प्रदान करता है। इस तरह करूणा का अर्थ खुशी और नम्रता में अपने कार्यों को करना है जिसके द्वारा हम मानव की सहायता करते हुए ईश्वर की महिमा करते हैं।

24 October 2018, 17:11